फोटो

- दिनोंदिन बढ़ रहे स्वाइन फ्लू के मामले

- स्वाइन फ्लू से पीडि़त मरीजों की संख्या 78 हुई

Meerut . शहर में स्वाइन फ्लू की दहशत ने हेल्थ डिपार्टमेंट की नींद उड़ा दी है. हर दिन स्वाइन फ्लू के पॉजिटिव केसों में इजाफा हो रहा है. गुरुवार को स्वाइन फ्लू के 13 नए मामलों की पुष्टि हुई है, वहीं दो महिलाओं की मौत हो गई. अब तक इस बीमारी से शहर में 10 मरीजों की मौत हो चुकी है. साथ ही स्वाइन फ्लू के मरीजों की संख्या बढ़कर 78 तक पहुंच गई है. कई डॉक्टर्स भी स्वाइन फ्लू की चपेट में आ गए हैं. सीएमओ डॉ. राजकुमार ने टीम के साथ मेडिकल कॉलेज के स्वाइन फ्लू वार्ड का दौरा किया.

वैक्सीन से बचाव कर रहे डॉक्टर्स

मेडिकल कॉलेज की माइक्रोबायोलॉजी के हेड डॉ. अमित गर्ग ने बताया कि स्वाइन फ्लू रेस्पायरेट्री तंत्र से जुड़ी बीमारी है. मौसमी फ्लू में भी यह वायरस सक्रिय होता है. स्वाइन फ्लू की जांच कर रहे डॉक्टर्स एन1एच1 वैक्सीन एतियातन लगवा लेते हैं. जिसका एक साल तक असर रहता है. इसके अलावा मास्क का लगातार प्रयोग किया जा रहा है. दूसरा स्वाइन फ्लू की जांच क्षेत्र व वार्ड तक को आइसोलेट करके रखा जाता है.

------

इन बातों का रखें ख्याल

- सार्वजनिक जगहों पर मास्क का प्रॉपर प्रयोग करे.

-स्वाइन फ्लू से बचाव के लिए सामान्य मास्क कम कारगर होता है.

-थ्री लेयर सर्जिकल मास्क को 4 घंटे और एन-95 मास्क को एक हफ्ते तक प्रयोग किया जा सकता है.

- एन-95 मास्क पर सर्जिकल मास्क लगाकर प्रयोग करें.

------------

यह हैं स्वाइन फ्लू के लक्षण

- मरीज को सांस लेने में दिक्कत

-छाती में तेज दर्द हो.

-शरीर के किसी हिस्से में नीलापन

-पैरों में सूजन आ रही हो.

-बलगम में खून आ रहा हो.

----------------

ोटो है.

हेडिंग- जिला अस्पताल में बांटे मास्क

मेरठ. सारथी सोशल वेलफेयर एसोसिएशन ने गुरुवार को प्यारे लाल जिला अस्पताल में लोगों को नि:शुल्क मास्क बांटे. साथ ही मरीजों को वायरल बीमारियों के बारे में जानकारी दी. इसके अलावा बदलते मौसम में मास्क की जरूरत के बारे में भी बताया. इस मौके पर अशोक शर्मा, वंदना, स्मृति, विकास, रितेश, प्रथम आदि मौजूद रहे.