- कल्याणपुर में नाना के साथ रहने वाले 13 साल के नाती ने किया सुसाइड, फंदे पर लटका मिला शव

-मां की 6 साल पहले बीमारी से हो गई थी मौत, इसके बाद पिता ने भी गम में कर लिया था सुसाइड

- पुलिस को मौके से मिला सुसाइड नोट, सिर्फ एक लाइन लिखी, अम्मा मैं अपनी गलती सुधार नहीं पाया

kanpur@inext.co.in

KANPUR: कल्याणपुर में मंगलवार सुबह दिलों को झकझोर देने वाली एक घटना में 13 साल के छात्र ने फांसी लगा कर जान दे दी. उसकी मां की 6 साल पहले बीमारी से मौत हो गई थी. इसी गम में प्राइवेट नौकरी करने वाले उसके पिता ने भी सुसाइड कर लिया. इसके बाद उसे अपने छोटे भाई के साथ पुलिस सेवा से रिटायर्ड नाना के साथ रहने लगा. इस दौरान भी वह मां-बाप की मौत के सदमे से निकल नहीं सका. मंगलवार सुबह उसका शव घर में फंदे पर झूलते हुए मिला. मौके पर पहुंची पुलिस को एक सुसाइड नोट मिला. जिसमें सिर्फ एक लाइन लिखी थी 'अम्मा मैं अपनी गलती नहीं सुध्ार पाया.'

मॉर्निग वाक से लौटा और..

कल्याणपुर आवास विकास-3 निवासी रिटायर्ड दरोगा फूल सिंह चंदेल की बेटी विनीता की 6 साल पहले बीमारी से मौत हो गई. विनीता के पति मनोज सिंह ने इसी गम में चार साल पहले फांसी लगा कर जान दे दी. उनके दो बेटे थे. बड़ा बेटा आशुतोष सिंह(13)) 8वीं क्लास में पढ़ता था और अपने छोटे भाई संग नाना के घर में ही रहता था. मंगलवार सुबह वह घर से मॉर्निग वॉक पर निकला. लौट के सीधे कमरे में गया और दरवाजा बंद कर लिया. थोड़ी देर बाद परिजनों ने कमरे का दरवाजा खुलवाना चाहा तो काफी प्रयास के बाद नहीं खुला. इसके बाद पुलिस को सूचना दी गई. पुलिस किसी तरह कमरे के अंदर पहुंची तो आशुतोष का शव फंदे से लटक रहा था.

गुमसुम सा रहता था

8वीं में पढ़ने वाले आशुतोष से ऐसी कौन सी गलती हुई जिसे सुधार नहीं पाने पर उसने खुद की जान दे दी. कल्याणपुर पुलिस और उसके नाना कोई भी इस बारे में नहीं बता पा रहा है या बताना नहीं चाहता. इलाकाई लोगों के मुताबिक बेहद छोटी उम्र में मां और बाप दोनों का साया खो देने के बाद से आशुतोष गुमसुम सा रहता था.

Posted By: Inextlive