RANCHI:लॉकडाउन अवधि में जनता से जुड़े काम बंद होने का बोझ सरकारी दफ्तरों पर बढ़ता जा रहा है, जिसे लॉकडाउन खुलने के बाद काम को पटरी पर लाना बड़ी चुनौती होगी। परिवहन विभाग की बात करें तो यहां करीब दो महीने से ड्राइविंग लाइसेंस की प्रक्रिया पर रोक लगी है। रांची में लॉकडाउन की पूरी अवधि में करीब 14 हजार लाइसेंस नहीं बन पाए हैं। अब विभाग इन लाइसेंस को बनवाने के लिए रूपरेखा तैयार कर रहा है।

नए आवेदकों को करना होगा इंतजार

परिवहन विभाग के एक अधिकारी का कहना है कि लॉकडाउन खुलने के बाद लाइसेंस प्रक्रिया जब शुरू होगी तो नए आवेदकों को इंतजार करना होगा। पहले उन्हीं आवेदकों को प्राथमिकता दी जाएगी, जिन्होंने पहले से ही आवेदन कर रखा है। हालांकि, विभाग लाइसेंस प्रक्रिया को लेकर पॉलिसी बना रहा है। इसके अलावा स्लॉटों की संख्या बढ़ाकर आवेदकों के लाइसेंस बनाए जाएंगे।

मैनपावर की है कमी

रांची डीटीओ ऑफिस में इन दिनों ड्राइविंग लाइसेंस के आवेदनों की लिस्ट लंबी हो गई है। वहीं, मैनपावर की भी पहले से ही कमी है। इस कारण काम डिले होता था। ऐसे में अब आवेदकों का प्रेशर तो बढ़ा लेकिन मैनपावर में कोई सुधार नहीं हुआ है। जाहिर है डीएल के लिए और इंतजार करना ही होगा।

लॉकडाउन से पहले के भी आवेदन

लाकडाउन के पहले कई लोगों ने आवेदन दे रखा था, लेकिन उनका आवेदन जहां था वहीं पेंडिंग पड़ा हुआ है। लोग अपने अप्लीकेशन का स्टेटस चेक करके परेशान हो रहे हैं लेकिन आवेदन एक कदम आगे नहीं बढ़ा है। अब लॉकडाउन के बाद ही उनके आवेदन पर विचार होगा।

अब लर्निग में भी इंतजार

लॉकडाउन खुलने के बाद डीटीओ ऑफिस से लर्निग लाइसेंस लेने में भी लोगों को इंतजार करना होगा। आवेदक को कम्प्यूटर टेस्ट से लेकर फोटो खिंचवाने के लिए समय लेना होगा। यानी पहले परमानेंट लाइसेंस के लिए एक महीने रुकना पड़ता था, अब लर्निग लाइसेंस के लिए भी एक महीना इंतजार करना पड़ रहा है।

परमानेंट डीएल 3 माह से पहले नहीं

जो लाइसेंस एक महीने में मिल जाता था वो अब तीन महीने बाद मिलेगा। हो सकता है इससे ज्यादा भी समय लग जाए। लर्निग लाइसेंस मिलने के बाद ही परमानेंट के लिए आवेदन किया जाता है। लगभग एक से डेढ़ महीने बाद लर्निग लाइसेंस मिल पाएगा। इसके बाद परमानेंट के लिए फिर से आवेदन किया जाता है। इसके लिए भी ड्राइविंग टेस्ट लिया जाता है। परमानेंट लाइसेंस मिलने में 15 से 20 दिन का समय लगता था। लेकिन लॉकडाउन की वजह से 2 महीने से काम बंद है। ऐसे में कार्यालय खुलने पर भी इसमें काफी समय लगेगा।

Posted By: Inextlive

inext-banner
inext-banner