सूरत (पीटीआई)गुजरात के सूरत शहर में शुक्रवार को तक्षशिला कॉम्प्लेक्स बिल्डिंग की दूसरी मंजिल पर भीषण आग लग जाने से अफरातफरी मच गई। 4 मंजिला इमारत के टॉप फ्लोर पर लगी इस आग में फंसने और बचने के लिए नीचे कूदने के कारण करीब 15 लोगों की मौत हो गई है। मरने वालों में कई छात्र छात्राएं भी शामिल हैं, जो बिल्डिंग के ऊपरी फ्लोर पर बने एक कोचिंग सेंटर में पढ़ रहे थे। घटना के फौरन बाद फायर ब्रिगेड ने आग पर काबू पाने के लिए बचाव अभियान छेड़ दिया था, जो अब तक जारी है।

सूरत: कोचिंग सेंटर में लगी आग से 15 की मौत,पीएम मोदी ने गहरा दुख जताया,मृतक आश्रितों को 4 लाख देगी गुजरात सरकार

जान बचाने के लिए बहुमंजिला इमारत की छत से नीचे कूदे बच्चे
तक्षशिला काम्प्लेक्स की तीसरी और चौथी मंज़िल को आग ने अपने चपेट में ले लिया था। ऐसे में आग और धुंए से अपनी जान बचाने को कोचिंग सेंटर में पढ़ रहे तमाम बच्चों ने छत से कूदने की कोशिश भी की। कई वीडियोज में बच्चों समेत कई लोगों को बिल्डिंग की तीसरी और चौथी मंज़िल से कूदते हुए साफ देखा जा सकता है। फायर ब्रिगेड के एक अधिकारी ने बताया कि आग पर काबू पाने के लिए 19 फायरटेंडर और 2 हाइड्रोलिक प्लेटफार्म लगाए गए हैं। उन्होंने यह भी बताया कि इस हादसे में घायल कई छात्रों को बचाया जा चुका है और उन्हें अस्पताल भेज दिया गया है। चार मंजिला इमारत में फंसे छात्रों और अन्य लोगों को बचाने में स्थानीय लोगों ने भी काफी मदद की।

पीएम मोदी ने गहरा दुख जताया
सूरत के इस कोचिंग सेंटर में लगी भीषण आग में कई बच्चों की मौत से पीएम मोदी भी काफी आहत हैं। अपने ट्वीट में मोदी ने कहा 'सूरत में हुए इस दर्दनाक हादसे से वो काफी व्यथित हैं। मृतकों के प्रति मेरी गहरी संवेंदना है। मैनें गुजरात सरकार और स्थानीय प्रशासन को हर संभव मदद करने को कहा है।

 

मृतक आश्रितों को गुजरात सरकार देगी 4 लाख
सूरत में हुए इस अग्निकांड को लेकर गुजरात के सीएम विजय रुपाणी ने आर्थिक सहायता की घोषणा की है। इस हादसे में अपनी जान गंवाने वाले हर एक छात्र-छात्रा के परिवार को राज्य सरकार 4 लाख रुपए की आर्थिक सहायता देगी। इसके अलावा राज्य सरकार ने इस अग्निकांड को लेकर जांच का आदेश भी दे दिया है।

Posted By: Chandramohan Mishra

National News inextlive from India News Desk