क्त्रन्हृष्ट॥ढ्ढ:खूनी रफ्तार ने फिर तीन जान ले ली है. पहली दुर्घटना रविवार रात 2 बजे लोअर बाजार थाना क्षेत्र के रोस्पा टावर के पास हुई, जिसमें बुलेट सवार गुमला सिसई निवासी निखिल व खूंटी मुरहू के रहने वाले राजकुमार गुप्ता की दर्दनाक मौत घटनास्थल पर ही हो गई. वहीं, दूसरा हादसा सोमवार सुबह करीब 8 बजे अरगोड़ा थाना क्षेत्र के कडरू ओवरब्रिज के पास हुआ, जिसमें सदर थाना क्षेत्र के कोकर में रहने वाली स्कूटी सवार 25 वर्षीया छात्रा अंजलि कच्छप की जान चली गई. पुलिस ने तीनों शवों को पोस्टमार्टम के लिए रिम्स भेज दिया है. वहीं, मृतकों के परिजनों को भी सूचना दे दी गई है.

डिवाइडर से टकराई बेकाबू बुलेट

जानकारी के अनुसार, बुलेट पर सवार होकर दोनों युवक देर रात तेज रफ्तार में मेन रोड से सुजाता चौक की ओर जा रहे थे. इसी दौरान रोस्पा टावर के समीप अचानक बाइक डिवाइडर से टकरा गई, जिसके बाद दोनों युवक बुरी तरह जख्मी हो गए और थोड़ी देर में घटनास्थल पर ही उनकी मौत हो गई.

स्टूडेंट था निखिल, राजकुमार गुप्ता थे मैनेजर

लोअर बाजार पुलिस ने बताया कि दोनों युवक कांटाटोली स्थित नेताजी नगर में किराए के मकान में रहते थे. निखिल एमकॉम का स्टूडेंट था जबकि राजकुमार गुप्ता हरिओम टावर स्थित एक इंश्योरेंस कंपनी में मैनेजर के पद पर कार्यरत थे.

अज्ञात वाहन की चपेट में आई स्कूटी

इधर, अरगोड़ा थाना क्षेत्र के कडरू ओवरब्रिज के पास वाले हादसे के बारे में बताया जा रहा है कि स्कूटी सवार छात्रा कोचिंग के लिए जा रही थी, तभी अज्ञात वाहन की चपेट में आ गई और छात्रा की जान चली गई.

सीसीटीवी फुटेज खंगाल रही पुलिस

पुलिस ने छात्रा अंजलि कच्छप की हादसे में मौत की सूचना उनके परिजनों को दे दी है. वहीं, पुलिस घटनास्थल के आसपास लगे सीसीटीवी फुटेज खंगाल रही है. साथ ही धक्का मारने वाले अज्ञात वाहन के बारे में भी जानकारी जुटाने का प्रयास कर रही है. अरगोड़ा पुलिस ने बताया कि फिलहाल वाहन के बारे में पुलिस को जानकारी नहीं मिल पाई है. लेकिन जल्द ही इसका पता लगा लिया जाएगा.

90 परसेंट एक्सीडेंट तेज रफ्तार से

रांची पुलिस के अनुसार, राजधानी रांची में 90 परसेंट रोड एक्सीडेंट की वजह तेज रफ्तार है. बाकी 10 परसेंट हादसे ड्राइवर के नशा में होने के कारण होते हैं. दरअसल, तेज रफ्तार व बिना हेलमेट पहने बाइक व स्कूटी की राइडिंग मौत का कारण बन रही है. वहीं, पुलिस की रिपोर्ट पर गौर करें तो 20 परसेंट रोड एक्सीडेंट की वजह ब्लैक स्पॉट भी हैं.

हर महीने 40 से अधिक रोड एक्सीडेंट

राजधानी रांची में लगातार रोड एक्सीडेंट बढ़ा है. आंकड़ों पर गौर करें तो महीने में औसतन 15 लोगों की मौत रोड एक्सीडेंट में हो रही है. लेकिन, इसे कम करने के उपाय नहीं हो रहे हैं. इसके पीछे सबसे बड़ी वजह लोगों में जागरुकता का अभाव है. सब कुछ जान-बूझकर लोग मौत को गले लगा रहे हैं.