- डीएम के निर्देश पर टास्क फोर्स ने की कार्रवाई

- हरिद्वार मार्ग पर मौजूद तीन मंदिर किए ध्वस्त

देहरादून,

कोर्ट के आदेश पर अतिक्रमण के खिलाफ गठित टास्क फोर्स की निगरानी में प्रशासन ने हरिद्वार मार्ग पर बने तीन मंदिरों पर जेसीबी चलाकर इन्हें ध्वस्त कर दिया गया। शेष मंदिरों पर मंगलवार को कार्रवाई होगी।

सुप्रीम कोर्ट का था आदेश

सुप्रीम कोर्ट ने वर्ष 2009 में यातायात में बाधा बनने वाले मंदिरों को हटाने के निर्देश शासन को दिए थे। इस मामले में एक जनहित याचिका पर सुनवाई करते हुएच्उच्च न्यायालय ने उत्तराखंड शासन को 24 मार्च से पूर्व सड़क के किनारे निर्मित सभी मंदिरों को तोड़कर रिपोर्ट प्रस्तुत करने के आदेश जारी किए थे। डीएम देहरादून ने ऋषिकेश प्रशासन को 16 मार्च से पूर्व ऐसे मंदिरों के खिलाफ कार्रवाई के आदेश दिए थे। डीएम ने पूर्व में अतिक्रमण को लेकर टास्क फोर्स गठित की थी। सोमवार को टास्क फोर्स के सदस्य एसडीएम प्रेमलाल, एमएनए नरेंद्र सिंह क्वीरियाल, एसपी वीरेंद्र सिंह रावत, अधिशासी अभियंता नेशनल हाईवे डोईवाला ओपी सिंह, तहसीलदार रेखा आर्य की मौजूदगी में टीम ने मंदिरों के खिलाफ कार्रवाई शुरू की। नगर निगम के बाहर बने होशियारी मंदिर पर जेसीबी चलाकर इसे ध्वस्त कर दिया गया। हरिद्वार मार्ग पर टैक्सी यूनियन के समक्ष बने शिव मंदिर के खिलाफ भी कार्रवाई हुई। मौके पर यूनियन के अध्यक्ष विजयपाल रावत में अधिकारियों को हाई कोर्ट के द्वारा जारी स्टे आदेश की भी जानकारी दी। अधिकारियों ने इसे सुप्रीम कोर्ट का आदेश बताते हुए अपनी कार्रवाई को अंजाम दिया। इसी क्रम में वैष्णव प्लाजा हरिद्वार मार्ग के समीप सड़क के किनारे बने हनुमान मंदिर पर भी प्रशासन की जेसीबी चली। मंदिर के पुजारी ने मूर्ति को यहां से हटाने का आग्रह किया तो अधिकारियों ने उन्हें मूर्ति हटाने का वक्त दिया। देर शाम प्रशासन की टीम चंद्रभागा पुल के समीप भैरव मंदिर पहुंची.वहां मंदिर के संचालकों द्वारा स्वयं ही निर्माण को तोड़ा जा रहा था.जिस कारण प्रशासन ने सोमवार को कार्यवाही स्थगित करते हुए मंगलवार को भैरव मंदिर सहित हीरालाल मार्ग पीपल के पेड़ के नीचे स्थित शिव मंदिर के खिलाफ कार्रवाई का निर्णय लिया। मुख्य नगर आयुक्त ने बताया कि जयराम आश्रम मार्ग साईं धाम के खिलाफ भी कार्रवाई होनी है। शासकीय अधिवक्ता ने बताया कि इस मामले में सचर्ेच्च न्यायालय में सुनवाई चल रही है। इसलिए अब 19 मार्च को कार्रवाई होगी।

मंदिर पर जेसीबी चलाने से इनकार

टास्क फोर्स के द्वारा नगर निगम के बाहर बने होशियारी मंदिर से कार्रवाई की शुरुआत की गई। नेशनल हाईवे डिवीजन के द्वारा एक जेसीबी मंगाया गया था। जेसीबी के चालक को मौके पर बुलाया गया। ऐन वक्त पर चालक ने अपने मालिक से बात की और उसके बाद चालक ने मंदिर पर जेसीबी चलाने से इनकार कर दिया। ऐन मौके पर चालक द्वारा हाथ खड़े कर दिए जाने के बाद कार्यवाही प्रभावित हुई। मुख्य नगर आयुक्त ने नगर निगम से जेसीबी मंगाई और कार्यवाही को आगे बढ़ाया।

Posted By: Inextlive

inext-banner
inext-banner