रिटायर्ड सीओ की पुत्रवधू समेत आठ महिलाएं हो चुकी हैं शिकार

विरोध करने पर देते हैं गोली मारने की धमकी

Meerut. आजकल शहर की सड़कों पर आठ बाइकर्स गैंग पुलिस के चुनौती बने हैं. इन गैंग के सदस्य महिलाओं व युवतियों के पर्स व चेन लूटकर पलक झपकते ही गायब हो जाते हैं. बीते एक हफ्ते में बाइकर्स गैंग पूर्व सीओ की पुत्रवधू समेत आठ महिलाओं को अपना शिकार बना चुका है. एसएसपी राजेश कुमार पांडेय ने बताया कि क्राइम ब्रांच को इनकी गिरफ्तारी के लिए लगाया गया है.

ऐसे करते हैं वारदात

नई 180 या 200 सीसी पल्सर बाइक पर रहते हैं सवार

एक बाइक पर सवार होकर चलते हैं दो बदमाश

घटना के वक्त डाल लेते हैं चेहरे पर नकाब

स्कूलों व कॉलेजों के पास अकेले व रिक्शे में जाती हुई महिलाओं को बनाते है शिकार

ज्यादातर सुनसान स्थान को चुनता है बाइकर्स गैंग

पकड़े जाने या विरोध करने पर बिना हिचके करते हैं हथियार से हमला

बाइक की नंबर प्लेट पर रहता है फर्जी नंबर

चुनते हैं वक्त

1. सुबह-सुबह मॉर्निग वॉक के वक्त

2. तेज धूप के वक्त

3. शाम ढलने के वक्त

बढ़ रहीं घटनाएं

बेशक शहर की सड़कों पर पुलिस की सक्रियता कम हुई है इसलिए ही तो बाइकर्स गैंग वारदातों को अंजाम देने में लगा है. अगर मार्च महीने की बात करें तो रेलवे रोड, सदर व ब्रह्मपुरी, लिसाड़ी गेट पुलिस ने एक साथ आठ चेन स्नेचरों को मुठभेड़ के बाद गिरफ्तार किया था. मुठभेड़ के दौरान पुलिस की गोली इनके पैर में लगी थी. इसके बाद काफी हद तक शहर में चेन व पर्स लूट की घटनाओं में लोगों को राहत मिली थी.

चिंहित हुए गैंग

क्राइम ब्रांच ने शहर में पर्स व चेन स्नेचिंग के मामले में आठ गैंग चिंहित किए हैं.

1. दानिश गैंग

2. राशिद काला गैंग

3. नदीम गैंग

4. जावेद गैंग

5. राहुल गैंग

6. इरशाद गैंग

7. अरशद गैंग

8. सुमित गैंग

बदमाश मांग रहे रंगदारी, पुलिस मौन

बदमाशों का व्यापारियों से रंगदारी मांगना अब शगल बन गया है. बदमाशों को भी पता है कि पुलिस अब उनके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं करेगी. पुलिस की लापरवाही के चलते पिछले चार महीनों में रंगदारी के कई मामले सामने आए हैं, जिसमें पुलिस मूकदर्शक बनी हुई है. हालांकि एसएसपी राजेश कुमार पांडेय का कहना है कि जितने भी रंगदारी के मामले सामने आए हैं, उनमें सुरक्षा उपलब्ध करवा दी गई है.

रंगदारी न देने पर मारी गोली

करीम नगर निवासी नूर मोहम्मद उर्फ बाबू का हापुड़ रोड पर जेड लुक फैशन शोरूम और हाफिज रेडीमेड खाना नाम से होटल चलाते हैं. उनका बेटा महताब बंगलुरु में कपड़े और कबाड़ का काम करता है. मंगलवार देर रात वह होटल पर बैठा खाना खा रहा था. इस दौरान एक स्पलेंडर बाइक पर दो युवक हेलमेट लगाकर आए और पीछे बैठे युवक ने महताब पर ताबड़तोड़ फायरिंग कर दी. जिसमें एक गोली व्यापारी के पेट में जा लगी और वह अचेत होकर नीचे गिर गया. परिजनों ने बताया था कि कई दिनों से उनसे रंगदारी मांगी जा रही थी.

और भी हैं मामले..

21 मई, 2018

भाजपा पार्षद राजीव गुप्ता उर्फ काले से मुरादाबाद जेल में बंद सतीश गिरी ने 20 लाख रुपये की रंगदारी मांगी थी.

6 मई, 2018

किठौर के हसनपुर निवासी टेंट हाउस कारोबारी विपिन कंसल से जेल से ही मोनू जाट ने 20 लाख रुपये की रंगदारी मांगी थी. रंगदारी न देने पर उसके दोनों बेटों की हत्या की धमकी भी दी थी. साथ ही आरोपित ने अपने गुर्गे से लिफाफा भिजवाया था. डराने के लिए इसमें चिट्ठी के साथ कारतूस भी रखा हुआ मिला था.

12 मार्च, 2018

सरधना के एक पशु व्यापारी अरमान से मेरठ जेल में बंद सुमित जाट नाम के बदमाश ने 20 लाख रुपये की रंगदारी मांगी थी.

16 फरवरी, 2018

शोरूम मालिक अमरीश चौहान से अमित काला नाम के एक बदमाश ने 10 लाख रुपये की रंगदारी मांगी थी. रुपये न देने पर गोली भी बरसाई थी.