सैनिटरी पैड देने की व्यवस्था लगातार की जा रही
ranchi@inext.co.in
RANCHI: सैनिटरी पैड के बारे में खुलकर बात करने से भी शर्माने वाली झारखंड की बेटियां अब मुखर होकर इस पर बात कर रही हैं. इसका उपयोग भी हाल के दिनों में काफी बढ़ गया है. यह हम नहीं कह रहे हैं, बल्कि सैनिटरी नैपकिन कंपनी स्टेफ्री और यूनिसेफ द्वारा जारी सर्वे में बताया गया है. सर्वे के अनुसार, झारखंड में 76 परसेंट लड़कियां अब सैनिटरी पैड का यूज कर रही हैं. साथ ही इसका रेगुलर यूज किया जा रहा है. नेशनल रूरल हेल्थ मिशन झारखंड के एमडी कृपानंद झा ने बताया कि महिलाओं को सैनिटरी पैड के यूज को बढ़ाने के लिए विभाग द्वारा जागरूकता कार्यक्रम और सैनिटरी पैड देने की व्यवस्था लगातार की जा रही है.

स्टेशन पर वेंडिंग मशीन
रांची रेल मंडल में सैनिटरी पैड वेंडिंग मशीन लगाकर महिलाओं को पैड देने की शुरुआत की जा चुकी है. रेल मंडल की महिला संगठन सर्वो द्वारा रांची स्टेशन के सेकेंड क्लास वेटिंग रूम में इसकी शुरुआत की गई है. इस वेंडिंग मशीन से महिलाओं को कुछ पैसा देकर सैनिटरी पैड उपलब्ध कराया जाएगा. इस मशीन में पांच रुपए का सिक्का डालकर सैनिटरी पैड लिया जा रहा है. इसमें एक बार में दो पैड मिलेंगे.

पूरे शहर में लगेगी मशीन
पूरी राजधानी में अब सैनिटरी पैड वेंडिंग मशीन लगाने की तैयारी चल रही है, जिससे कि महिलाओं को मेंस्ट्रुअल साइकिल के दौरान इसे दुकानों में जाकर खरीदने की जरूरत नहीं पड़े. वेंडिंग मशीन में पैसे डालते ही उन्हें दो पैड आसानी से उपलब्ध हो जाएंगे. रांची नगर निगम इसके लिए सिटी में जगह चिन्हित कर रहा है. जल्द ही मशीन इंस्टालेशन का काम भी शुरू हो जाएगा. इसमें भीड़-भाड़ वाले इलाकों को प्रमुखता दी जाएगी.

मुफ्त में भी बंटेगा
स्वच्छ भारत मिशन के तहत ही सिटी में सैनिटरी पैड वेंडिंग मशीन लगाने की योजना है, ताकि महिलाओं को जरूरत के समय सस्ते दाम पर सैनिटरी पैड्स आसानी से मिल जाएं. ऐसे में उम्मीद जताई जा रही है कि रेलवे स्टेशन और एयरपोर्ट की तरह ही महिलाओं को 5 रुपए डालने पर दो पैड मिलेंगे. वहीं स्लम और कम्युनिटी एरिया में नगर निगम की ओर से गिफ्ट, पैड के तहत महिलाओं को मुफ्त में बांटे जाएंगे.

पैडमेन के बाद बढ़ रहा है यूज
अक्षय कुमार की फिल्म पैडमेन आने के बाद से झारखंड में भी इसका उपयोग बढ़ गया है. स्वास्थ विभाग के द्वारा इसका प्रचार प्रसार जोर शोर से किया जा रहा है. झारखंड में सरकार द्वारा सैनिटरी पैड के लिये करीब 25 करोड रूपए का बजट रखा गया है. हर जिले में अलग से सैनिटरी पैड खरीदने के लिये विंग बनाया गया है जहां से हर साल खरीदारी की जाये.

फ्री में पैड बांटा जा रहा
झारखंड में सैनिटरी पैड का यूज बढ़ गया है. इसके लिए प्रचार प्रसार भी जोर शोर से किया जा रहा है. सरकार की ओर से जिलों में फ्री में पैड बांटा जा रहा है.
कृपानंद झा, डायरेक्टर, एनआरएचएम