क्त्रन्हृष्ट॥ढ्ढ : रांची रेलवे स्टेशन के मेकओवर का काम चल रहा है. इको स्मार्ट स्टेशन के साथ ही स्टेशन को पैसेंजर फ्रेंडली भी बनाया जा रहा है ताकि स्टेशन पर आने वाले पैसेंजर्स को दिक्कतों का सामना न करना पड़े. इसी क्रम में रांची स्टेशन पर प्लेटफार्म की ऊंचाई बढ़ाने का काम भी पाइपलाइन में है. वहीं स्टेशन पर आठ एस्केलेटर लगाए जाएंगे. जिससे कि पैसेंजर्स को दूसरे प्लेटफार्म तक जाने के लिए सीढि़यां चढ़ने के झंझट से छुटकारा मिल जाएगा.

सभी प्लेफार्म पर सुविधाएं

प्लेटफार्म नंबर एक और चार पर चढ़ने के लिए एस्केलेटर तो लगे हैं. लेकिन उतरने के लिए लोगों को सीढि़यों का ही सहारा है. अब सभी प्लेटफार्म पर चढ़ने और उतरने के लिए एस्केलेटर लग जाएंगे. इसके अलावा स्टेशन के दूसरे एंट्री गेट पर भी दो एस्केलेटर लगाने का प्रस्ताव दिया गया है. इसके अलावा फुटओवर ब्रिज का एक्सटेंशन भी जल्द होगा, जिससे कि लोग सीधे पार्किग में पहुंच जाएंगे. वहां भी दो एस्केलेटर लगाए जाने हैं.

आईआरसीटीसी-जेटीडीसी आफिस होंगे शिफ्ट

स्टेशन को भी एक्सटेंड करने का काम चल रहा है. इसके तहत आईआरसीटीसी का ऑफिस और टूरिज्म डिपार्टमेंट का आफिस दूसरी जगह शिफ्ट किया जाएगा. इससे कॉनकोर्स एरिया बढ़ जाएगा, जिसे पैसेंजर्स के बैठने और आराम करने के लिए डेवलप कर दिया जाएगा. ऐसे में ट्रेन का इंतजार करने वाले पैसेंजर्स को जगह मिल सकेगी.

गीले कचरे की होगी कंपोस्टिंग

रांची और हटिया स्टेशन से हर दिन हजारों पैसेंजर्स सफर करते हैं. ऐसे में कचरा निकलना भी लाजिमी है, जिसके डिस्पोजल को लेकर रेलवे ने योजना बनाई है. इसके तहत गीले कचरे की कंपोस्टिंग की जाएगी. वहीं सूखे कचरे को कांपैक्ट कर स्क्रैप वालों को बेच दिया जाएगा, जिससे रेलवे को राजस्व भी मिलेगा.