We want AK-47...

A caller demands AK-47 from Tileshwar Sahu

call, weapon, ak-47, gun, threat, demand, naxalite, ranchi

Ranchi : झारखंड पॉल्यूशन कंट्रोल बोर्ड के एक्स चेयरमैन तिलेश्वर साहू से एके-47 और कारबाईन की डिमांड की गई है. उनसे उनके मोबाइल पर कॉल कर हथियार की डिमांड की गई है. इस बाबत उन्होंने रांची पुलिस से कम्प्लेन की है. पुलिस मामले की छानबीन कर रही है.
दीपक जी ने मांगा है हथियार
सोर्सेज के मुताबिक, कॉलर ने खुद को दीपक जी बताया है. उसने कहा है कि ऑर्गनाइजेशन में हथियार की कमी हो गई है, इसलिए वह ऑर्गनाइजेशन को मजबूत करने के लिए हथियार की डिमांड कर रहा है. कॉलर बार-बार तिलेश्वर साहू से फोन पर बात कर रहा है और उनसे हथियार सप्लाई करने को कह रहा है. 
साजिश की है आशंका 
तिलेश्वर साहू ने रांची पुलिस से की गई अपनी कम्प्लेंट में कहा है कि उनके साथ कोई गहरी साजिश कर रहा है. उन्होंने रांची पुलिस को वो नंबर्स भी प्रोवाइड कराए हैं, जिनसे कॉल कर उनसे हथियार मांगे जा रहे हैं. तिलेश्वर साहू ने रांची पुलिस से इसकी जांच कर उचित कानूनी कार्रवाई करने की रिक्वेस्ट की है. 
पहले भी हो चुके हैं तिलेश्वर साहू पर हमले
गौरतलब है कि पहले तिलेश्वर साहू पर उग्रवादी हमले हो चुके हैं. उनकी सिक्योरिटी के लिए पुलिस ने उन्हें बॉडीगार्ड प्रोवाइड कराया है. इसके पहले भी नक्सलियों ने तिलेश्वर साहू से लेवी की डिमांड की थी. डिमांड पूरी नहीं होने पर उनके गांव में फाइरिंग की घटना को अंजाम दिय गया था. तिलेश्वर साहू का कहना है कि उनके खिलाफ कोई साजिश रच रहा है और उन्हें अपने जाल में फंसाना चाहता है.

 

दीपक जी ने मांगा है हथियार

सोर्सेज के मुताबिक, कॉलर ने खुद को दीपक जी बताया है. उसने कहा है कि ऑर्गनाइजेशन में हथियार की कमी हो गई है, इसलिए वह ऑर्गनाइजेशन को मजबूत करने के लिए हथियार की डिमांड कर रहा है. कॉलर बार-बार तिलेश्वर साहू से फोन पर बात कर रहा है और उनसे हथियार सप्लाई करने को कह रहा है. 

साजिश की है आशंका 

तिलेश्वर साहू ने रांची पुलिस से की गई अपनी कम्प्लेंट में कहा है कि उनके साथ कोई गहरी साजिश कर रहा है. उन्होंने रांची पुलिस को वो नंबर्स भी प्रोवाइड कराए हैं, जिनसे कॉल कर उनसे हथियार मांगे जा रहे हैं. तिलेश्वर साहू ने रांची पुलिस से इसकी जांच कर उचित कानूनी कार्रवाई करने की रिक्वेस्ट की है. 

पहले भी हो चुके हैं तिलेश्वर साहू पर हमले

गौरतलब है कि पहले तिलेश्वर साहू पर उग्रवादी हमले हो चुके हैं. उनकी सिक्योरिटी के लिए पुलिस ने उन्हें बॉडीगार्ड प्रोवाइड कराया है. इसके पहले भी नक्सलियों ने तिलेश्वर साहू से लेवी की डिमांड की थी. डिमांड पूरी नहीं होने पर उनके गांव में फाइरिंग की घटना को अंजाम दिय गया था. तिलेश्वर साहू का कहना है कि उनके खिलाफ कोई साजिश रच रहा है और उन्हें अपने जाल में फंसाना चाहता है.


Crime News inextlive from Crime News Desk