-ई-रिक्शा से गीतों के माध्यम से जागरुकता फैला रहा स्वास्थ्य विभाग

- ई-रिक्शा के माध्यम से घर-घर पहुंचाया जा रहा संदेश

आई कंसर्न

मेरठ. लाइट, साउंड व म्यूजिक के साथ्ज्ञ ई-रिक्शा और बजते फिल्मी गीतों की धुन पर डेंगू व स्वाइन फ्लू से जागरूकता का संदेश बुधवार को लोगों के बीच आकर्षक बना रहा. बेक्टर बार्न डिजीज के प्रति लोगों को सचेत करने के लिए स्वास्थ्य विभाग ने नया तरीका निकाला है. शहर भर में पांच ई-रिक्शा शहरवासियों को इस बीमारियों के बारे में जागरूक करेंगे.

दो दिन चलेगा अभियान

ई-रिक्शा से जनजागरूकता का अभियान दो दिन के लिए चलाया जाएगा. इसमें लोगों को बचाव के तरीकों के बारे मे जानकारी दी जाएगी वहीं लोगों इनके कारण, निवारण के बारे में भी पूरी जानकारी दी जाएगी. ई-रिक्शा के पीछे बोर्ड भी लगवाया गया है.

स्कूलों में भी देंगे जानकारी

बच्चों को इन बीमारियों के बारे में बताने के लिए सरकारी स्कूलों के बाद सीबीएसई स्कूलों में भी बच्चों को अवेयर करने के लिए स्वास्थ्य विभाग इन स्कूलों के टीचर्स को ट्रेनिंग देगा. जिसके बाद सभी स्कूलों में बच्चों को इस बारे में बताया जाएगा.

दिखाई जाएगी फिल्म

शहर के मुख्य चौराहे पर लगे स्क्रीन डिस्पले होर्डिंग पर शार्ट फिल्म चलाकर स्वास्थ्य विभाग बीमारियों के बारे में लोगों को जागरूक करेगा. विभागीय अधिकारियों का कहना है कि यह फिल्म आते-जाते लोगों को संदेश देगी. इसके लिए बकायदा लखनऊ से कई फिल्मों का रूपांतरण कर शार्ट फिल्म तैयार करके भेजी गई हैं.

जमे पानी को साफ करें

घरों में, कूलर में, खाली पड़े कप, बोतल आदि में जमा साफ पानी के रूक जाने की वजह से ही बीमारियां पनप रही है. इसके लिए विभाग अब एंटी लार्वा एक्टिविटीज भी करवा रहा है. जिन इलाकों में स्वाइन फ्लू व डेंगू के केस मिले हैं वहां पर कैंप लगाकर लोगों को पानी जमा होने के नुकसानों के बारे में बताया जा रहा है.

वर्जन

लोगों को यह समझना है कि बीमारियों का कारण उनके घर में ही है. बीमारियों से बचाव के लिए हम हर संभव प्रयास कर रहे हैं. इसके लिए अलग-अलग प्रोग्राम चलाए जा रहे हैं.

डॉ. योगेश सारस्वत, जिला मलेरिया अधिकारी, मेरठ