मुंबई (पीटीआई)। रविवार को खत्म हुई सैयद मुश्ताक अली ट्राॅफी से जुड़ा बड़ा राज सामने आया है। बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली ने रविवार को कहा कि एक सट्टेबाज ने सैयद मुश्ताक अली टी 20 टूर्नामेंट के दौरान एक खिलाड़ी से संपर्क किया था, जिसे बोर्ड की भ्रष्टाचार निरोधक इकाई (एसीयू) को सूचित किया गया था। गांगुली ने बीसीसीआई के वार्षिक जनरल मीटिंग के बाद एक संवाददाता सम्मेलन में कहा, "सैयद मुश्ताक में भी, मुझे बताया गया था कि खिलाड़ियों में से एक से संपर्क किया गया था, लेकिन मुझे सटीक नाम नहीं पता है। लेकिन खिलाड़ी से संपर्क किया गया था और उसने तुरंत इसकी सूचना दी।'

घरेलू क्रिकेट में फिक्सिंग का साया

पूर्व भारतीय कप्तान ने मैच फिक्सिंग को लेकर कहा कि, सटोरिए खिलाड़ियों से अक्सर संपर्क करते रहते हैं, इसमें कुछ नया नहीं है। मगर यहां देखने वाली बात होती है कि जिस खिलाड़ी को अप्रोच किया गया, वह क्या करता है। यह सबसे बड़ी समस्या है। बता दें तमिलनाडु प्रीमियर लीग और कर्नाटक प्रीमियर लीग में धूम मचाने वाले फिक्सिंग घोटालों के बारे में पूछने पर गांगुली ने यह रहस्योद्घाटन किया। सितंबर में, तमिलनाडु में पुलिस ने तमिलनाडु प्रीमियर लीग में मैच फिक्सिंग रैकेट का पर्दाफाश किया था। वहीं मैच फिक्सिंग कांड पिछले महीने भी कर्नाटक प्रीमियर लीग में सामने आया था, जिससे एक अंतरराष्ट्रीय सट्टेबाज और कुछ खिलाड़ियों की गिरफ्तारी हुई थी।

मिथुन भी हैं जांच के दायरे में

बता दें भारत के अंतर्राष्ट्रीय प्लेयर अभिमन्यु मिथुन जैसे कुछ खिलाड़ी जो केपीएल स्पॉट फिक्सिंग कांड की जांच के दायरे में हैं, हालांकि मिथुन इसके बावजूद सैयद मुश्ताक अली टूर्नामेंट में खेल रहे थे। गांगुली ने कहा कि "टूर्नामेंट को रोकना बोर्ड के लिए बहुत कठिन है, क्योंकि किसी से सिर्फ संपर्क किया जाता है" लेकिन स्वीकार किया कि "कुछ राज्यों में यह अगले स्तर पर चला गया है"। हमने इसे (TNPL और KPL के मामले में) निपटाया है। हमने संबंधित राज्यों से बात की है। इन सभी को क्लीयर होने तक अभी KPL होल्ड पर है। चेन्नई, सौराष्ट्र और मुंबई में टूर्नामेंट हैं। सौराष्ट्र और मुंबई के लिए, कोई शिकायत नहीं हुई है, लेकिन चेन्नई में कुछ शिकायतें मिली हैं, लेकिन हम इससे निपटेंगे।"

भ्रष्टाचार रोधी इकाई को मजबूत करना होगा

उन्होंने कहा कि बोर्ड को इस तरह के मुद्दों से निपटने के लिए अपनी भ्रष्टाचार रोधी इकाई को मजबूत करना होगा। गांगुली ने कहा, "कोई भी यह नहीं चाहता है, यह किसी की मदद नहीं करता है। और हम दो लीगों में एक प्रणाली लगाएंगे जिसमें सट्टेबाजी और फिक्सिंग हुई, केपीएल होल्ड पर है और चेन्नई (TNPL) ने दो फ्रेंचाइजी को निलंबित कर दिया है।

Posted By: Abhishek Kumar Tiwari

Cricket News inextlive from Cricket News Desk