नई दिल्ली (एएनआई)पिछले साल आज के दिन दोपहर लगभग 3:00 बजे था, जब श्रीनगर-जम्मू राष्ट्रीय राजमार्ग पर केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के काफिले को जैश-ए-मोहम्मद (JeM) के एक आतंकवादी ने विस्फोटक लदे एक वाहन से टक्कर मार दी थी। इस हमले में सीआरपीएफ के 40 जवानों ने अपनी जान गंवा दी। बता दें कि जब यह हमला हुआ, तब 78 बसों का काफिला जम्मू से श्रीनगर जा रहा था, जिसमें सीआरपीएफ के 2500 सवार थे। इस हमले के बाद देश भर में विरोध हुआ, यहां तक पूरे देश ने जवानों को सम्मान के साथ अलविदा कहा। सभी नेताओं ने हमले की निंदा की और एक उचित प्रतिक्रिया की मांग की।

Pulwama Attack: राहुल गांधी ने पुलवामा अटैक पर बीजेपी को घेरा, पूछे तीन सवाल

भारत ने मसूद अजहर को ग्लोबल टेररिस्ट कराया घोषित

हमले के कुछ दिनों बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 17 फरवरी को एक बयान में कहा, 'मुझे लगता है कि मेरे दिल में वही आग है जो तुम्हारे अंदर व्याप्त है।' एक दिन पहले, उन्होंने कहा था कि सभी आँसू का बदला लिया जाएगा और सेना को दुश्मन के खिलाफ प्रतिशोध की जगह, समय, तीव्रता और नेचर को तय करने की पूर्ण स्वतंत्रता दी गई है। संयुक्त राष्ट्र और दुनिया भर के कई देशों ने पुलवामा आतंकी हमले की निंदा की और आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में भारत को अपना समर्थन दिया। इस हमले के बाद, भारत ने जेईएम प्रमुख मसूद अजहर को वैश्विक आतंकवादी के रूप में नामित करने के लिए व्यापक कूटनीतिक प्रयास शुरू किए। अमेरिका, ब्रिटेन और फ्रांस ने इसको लेकर यूएन में एक प्रस्ताव पेश किया था और 1 मई को मसूद अजहर को यूएन में ग्लोबल टेररिस्ट घोषित कर दिया गया। हालांकि, चीन ने इस प्रस्ताव का जमकर विरोध किया लेकिन सफल नहीं हुआ।

बालाकोट में भारतीय वायुसेना ने की बमबारी

आतंकी हमले के करीब 12 दिन बाद, 26 फरवरी की रात में भारतीय वायु सेना के जेट विमानों ने पाकिस्तान के खैबर पख्तूनख्वा के बालाकोट में जेएम शिविर पर बमबारी की। बाद में तत्कालीन विदेश सचिव एक प्रेस कांफ्रेंस में कहा, 'आज (26 फरवरी) के शुरुआती घंटों में एक खुफिया-नेतृत्व वाले ऑपरेशन में, भारत ने बालाकोट में जेईएम के सबसे बड़े प्रशिक्षण शिविर को निशाना बनाया। इस ऑपरेशन में, बहुत बड़ी संख्या में जेएम आतंकवादियों, प्रशिक्षकों, वरिष्ठ कमांडरों और जिहादियों के समूह को मार गिराया गया है। बालाकोट में इस शिविर का नेतृत्व मौलाना यूसुफ अजहर करता था, जो मसूद अजहर का बहनोई था।'

Pulwama Attack: पीएम मोदी ने बहादुरों को दी श्रद्धांजलि, कहा भारत उनकी शहादत को कभी नहीं भूलेगा

फाइटर जेट एफ -16 को अभिनंदन ने मार गिराया

एक दिन बाद 27 फरवरी को, भारतीय वायुसेना ने पाक वायुसेना द्वारा जम्मू-कश्मीर में सैन्य ठिकानों पर हमले की कोशिश को नाकाम कर दिया। हवाई झड़प में, विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान ने मिग -21 बाइसन विमान का संचालन करते हुए पीएएफ के एक बहुत ही एडवांस्ड एफ -16 को मार गिराया। हालांकि, उनका विमान भी हिट हो गया, जिसके बाद उन्हें पैराशूट से पीओके में उतरना पड़ा, जहां उन्हें पाकिस्तानी सेना ने बंदी बना लिया। अंतरराष्ट्रीय दबाव में, पाकिस्तान ने दो दिन बाद भारतीय वायुसेना के पायलट को रिहा कर दिया।

Posted By: Mukul Kumar

National News inextlive from India News Desk