-केंद्र सरकार ने बनाया नियम, लोकल अधिकारियों को नहीं है जानकारी

prayagraj@inext.co.in

PRAYAGRAJ: केंद्र सरकार द्वारा चलाई जा रही आयुष्मान भारत योजना का दूसरी बार लाभ लेने पर आधार कार्ड लगाना जरूरी होगा. हालांकि स्वास्थ्य विभाग इस मामले में खुलकर बोलने को तैयार नहीं हैं. अधिकारियों का कहना है कि मामले की जानकारी है लेकिन लिखित सूचना नहीं मिली है. सोर्सेज का कहना है कि सरकार ने योजना का दुरुपयोग को रोकने के लिए यह कदम उठाया है.

पारदर्शी होगी योजना

इस साल 23 सितंबर को जिले में आयुष्मान योजना लांच हो चुकी है. फिलहाल 2.5 लाख लाभार्थी परिवार इस योजना से आच्छादित हैं. इनको सालाना पांच लाख रुपए तक नि:शुल्क इलाज मुहैया कराया जा रहा है. पहले माह में कुल 37 मरीज लाभांवित हुए और अब सरकार का कहना है कि लाभार्थी परिवार द्वारा दोबारा योजना का लाभ लेने पर आधार कार्ड लगाना होगा. यह कार्ड मरीज का होगा. ऐसा इसलिए कि योजना के दुरुपयोग से बचा जा सके. इसके अलावा आधार नामांकन से जुड़ा दूसरा डॉक्यूमेंट भी लगाया जा सकता है.

सौ प्राइवेट हॉस्पिटल हुए चयनित

अधिक से अधिक लाभार्थियों को लाभांवित करने के लिए जिले में सौ प्राइवेट हॉस्पिटल्स को चयनित किया गया है. सभी को मरीजों से संबंधित बोर्ड और होर्डिग लगाने के आदेश दिए गए हैं. इसके अलावा जिले के 14 सरकारी हॉस्पिटल्स को भी योजना के लिए इनटाइटल्ड किया गया है. विभाग का कहना है कि अधिक से अधिक लाभार्थियों तक योजाना का लाभ पहुंचाने के लिए यह कदम उठाए जा रहे हैं. हाल ही में प्रधानमंत्री कार्यालय से भी योजना की पाती भेजी गई है जिसमें क्यू आर कोड दर्ज है. जिससे लाभार्थियो को आसानी से गोल्डन कार्ड मुहैया कराया जा सके.

वर्जन..

जानकारी मिली है लेकिन सरकार की ओर से लिखित आदेश नहीं आया है. पता चला कि मरीजों को दोबारा योजना के तहत इलाज कराने के लिए आधार कार्ड देना होगा.

-डॉ. एके तिवारी, एसीएमओ व नोडल आयुष्मान योजना