6 हजार से अधिक डीएल फंसे

6 माह से लगातार आ रही शिकायतें

3 सदस्यीय कमेटी बनाई गई

- गलत पता भर रहे आवेदक, लौट कर आ रहे है ड्राइविंग लाइसेंस

- 6154 आवेदकों के ड्राइविंग लाइसेंस लौट कर पहुंचे मुख्यालय

lucknow@inext.co.in

LUCKNOW: पिछले छह माह में करीब छह हजार डीएल लोगों के घर न पहुंचकर वापस मुख्यालय आ गए हैं, जिससे परिवहन विभाग के अधिकारी परेशान हैं. इसका कारण यह है कि इनमें आवेदकों का पता गलत फीड हो गया है. इस समस्या से आगे परेशान न होना पड़े इसलिए अब डीएल के लिए आवेदन करने वालों के लिए अपनी पूरी डिटेल के साथ मोबाइल नंबर देना भी अनिवार्य किया जा रहा है, जिससे डीएल बनने के बाद उन तक आसानी से पहुंच सके.

डालें सही एड्रेस

विभागीय अधिकारियों के अनुसार कई आवेदकों ने गलत पता भरा तो कई आवेदन करने के बाद दूसरी जगहों पर रहने चले गए. इसी कारण से करीब 6 हजार डीएल फंस गए हैं. जिन लोगों के पास डीएल नहीं पहुंचा है, वे परिवहन विभाग के हेल्पलाइन नंबर पर संपर्क कर रहे हैं. ऐसे लोगों से कहा जा रहा है कि वे सबसे पहले अपने भरे गए फॉर्म में एड्रेस चेंज करने की एप्लीकेशन दें, ताकि उनके सही एड्रेस पर डीएल पहुंचाया जा सके.

ताकि कर सकें संपर्क

आवेदकों तक डीएल आसानी से पहुंचे इसके लिए नए आवेदकों के लिए मोबाइन नंबर देना अनिवार्य किया गया है. जिससे डाकिया वहां पहुंच कर उस मोबाइल नंबर के माध्यम स उनसे संपर्क कर सके. यही नहीं अब डीएल के लिए आवेदन करते समय अपने क्षेत्र के पोस्ट ऑफिस का पिन नंबर भी देना होगा. जिससे लोगों तक लाइसेंस पहुंचाने की प्रक्रिया आसान हो जाएगी.

बाक्स

तीन सदस्यीय कमेटी

फिलहाल इन फंसे हुए आवेदकों के लाइसेंस उन तक पहुंचाने के लिए परिवहन विभाग ने तीन सदस्यीय कमेटी गठित की है. इस कमेटी ने लौट कर आए लाइसेंस को क्षेत्र वार बांट कर संबंधित आरटीओ ऑफिस तक पहुंचाने की तैयारी की है. वहां आवेदकों को बुलाकर डीएल उन्हें सौंपे जाएंगे.

कोट

इन लाइसेंस को आवेदकों तक पहुंचाने क लिए अप्रूवल मांगा गया है. अप्रूवल मिलते ही उनके पास डीएल भेज दिए जाएंगे.

गंगाफल, अपर परिवहन आयुक्त