कानपुर। कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी ने संसद में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण पर बयान दिया है। उन्होंने वित्त मंत्री को 'निर्बला' कहकर बुलाया है। संसद में अपनी बात रखते हुए कांग्रेस नेता ने कहा, 'आपके लिए रेस्पेक्ट तो है लेकिन कभी कभी सोचता हूं कि आपको निर्मला सीतारमण की जगह 'निर्बला' सीतारमण कहना ठीक होगा की नहीं। आप मंत्री पद पे तो हैं लेकिन जो आपके मन में है वो कह भी पाती हैं या नहीं।' इस बयान के बाद संसद में खूब हंगामा हुआ। भाजपा नेता अधीर रंजन से संसद में माफी मांगने की बात कहने लगे।

लोगों का हुआ अपमान
इससे पहले अधीर रंजन चौधरी ने रविवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह को 'बाहरी' कह दिया था। लोकसभा में कांग्रेस पार्टी के नेता अधीर रंजन चौधरी ने रविवार को कहा, 'मैं कह सकता हूं कि नरेंद्र मोदी और अमित शाह जी खुद प्रवासी हैं। उनका घर गुजरात में है लेकिन वे दिल्ली आए हैं।' इसपर भाजपा ने संसद में जमकर हंगामा किया। कुछ भाजपा ने इस बयान पर आपत्ति भी जताई। संसदीय वित्त कार्य मंत्री प्रल्हाद जोशी ने सोमवार को लोकसभा में अधीर रंजन चौधरी से बिना शर्त माफी मांगने के लिए कहा। जोशी ने कहा कि वह चौधरी द्वारा इस्तेमाल किए गए शब्दों की निंदा करते हैं और कहा कि कांग्रेस लोगों के जनादेश को स्वीकार नहीं कर रही है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री और गृह मंत्री मजबूत और निर्णायक नेता हैं। जोशी ने कहा, 'यह उन लोगों का अपमान है जिन्होंने मोदीजी को चुना है। उन्हें एक शानदार जनादेश मिला। विदेशों में भी उन्हें पसंद किया जाता है।'


कांग्रेस नेता को जोशी ने बताया 'घुसपैठिया'
जोशी ने कहा कि गृह मंत्री ने जम्मू-कश्मीर में धारा 370 को निरस्त करने के निर्णय के साथ इतिहास रचा। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के नेता पश्चिम बंगाल से चुने गए हैं। क्या हम उन्हें घुसपैठिया कह सकते हैं?' इसके अलावा सोनिया गांधी पर अप्रत्यक्ष रूप से निशाना साधते हुए उन्होंने कहा, 'कांग्रेस पार्टी एक घुसपैठिए के नेतृत्व में है। उनका नेता घुसपैठिए है।' इसपर चौधरी ने कहा कि उन्हें गलत तरीके से समझने की कोशिश की गई। उन्होंने कहा कि उनका परिवार भी बांग्लादेश से आया था। हालांकि, उन्हें भाजपा के सदस्यों के रुकावटों का सामना करना पड़ा। तब स्पीकर ओम बिरला ने सदन को लंच के लिए स्थगित कर दिया।

Posted By: Mukul Kumar

National News inextlive from India News Desk