हांगकांग (रॉयटर्स)। हांगकांग में चीन की प्रतिनिधि नेता कैरी लैम ने ब्रिटिश उपनिवेश काल के आपातकालीन कानूनी अधिकार का इस्तेमाल करते हुए शुक्रवार को फेस मास्क पर प्रतिबंध लगा दिया। काले कपड़ों पर यह मास्क लगाकर आंदोलनकारी चार महीने से लोकतंत्र की मांग का आंदोलन छेड़े हुए हैं। आए दिन के हिंसक टकरावों से हांगकांग की अर्थव्यवस्था को बड़ा नुकसान हुआ है। चार महीनों में हर क्षेत्र में हांगकांग पीछे गया है लेकिन सरकार और आंदोलनकारी पीछे हटने को तैयार नहीं हैं। हांगकांग में बीते 50 सालों में पहली बार आपातकालीन कानूनी प्रावधानों को लागू किया गया है। कैरी लैम ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि फेस मास्क पर लगा प्रतिबंध शनिवार से लागू होगा। इससे हिंसक प्रदर्शनकारियों को पहचानने और उन पर कार्रवाई में मदद मिलेगी।

प्रतिबंध की घोषणा से पहले ही सड़कों पर उतर गए प्रदर्शनकारी

लैम ने आशा जताई कि नए प्रावधानों से कानून व्यवस्था बनाने में मदद मिलेगी और हांगकांग की स्थिति जल्द ही सामान्य हो जाएगी। आपातकालीन प्रावधान के तहत पुलिस को कफ्र्यू लगाने और एहतियात के तौर पर लोगों की धरपकड़ और मीडिया पर नियंत्रण का अधिकार भी मिल जाता है। लेकिन लैम ने इन अधिकारों का जिक्र नहीं किया। चीन के हांगकांग और मकाऊ मामलों के कार्यालय ने सरकार के इस कदम का समर्थन किया है। कहा है कि हांगकांग में कलर रिवोल्यूशन (रंग आधारित क्रांति) बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। प्रतिबंध की इस घोषणा से पहले ही सड़कों पर प्रदर्शनकारियों का एकत्रित होना शुरू हो गया था। जैसे-जैसे दिन ढलना शुरू हुआ, वैसे-वैसे प्रदर्शनकारियों की संख्या बढ़ने लगी।

हांगकांग में प्रदर्शनकारियों ने बनाया अनोखा ड्रेस कोड, ऐसे करेंगे खुफिया पुलिस का मुकाबला

पुलिस ने संभाला मोर्चा

सरकारी घोषणा की प्रतिक्रिया में हिंसा होने की आशंका से बैंक और व्यापारिक प्रतिष्ठान जल्द बंद होने लगे। पुलिस ने भी मोर्चा संभाल लिया। बावजूद इसके प्रदर्शनकारियों ने चीन का झंडा लहराते हुए उसमें आग लगा दी और नारा लगाया- तुम भी इसके साथ जल जाओगे..हांगकांग ने विद्रोह कर दिया है..। सूचना मिली है कि फेस मास्क पर रोक की सूचना मिलते ही हांगकांग के विभिन्न इलाकों में हजारों प्रदर्शनकारी सड़कों पर आ गए हैं।

Posted By: Mukul Kumar

International News inextlive from World News Desk

inext-banner
inext-banner