JAMSHEDPUR: पोटका प्रखंड के एक गांव में नाबालिक छात्रा के साथ सामूहिक दुष्कर्म के बाद हत्या करने के आरोपितों को गिरफ्तार करने की मांग को लेकर सोमवार को जिला मुख्यालय में प्रदर्शन किया गया. अपराधियों ने पहली जनवरी को चौथी क्लास की नाबालिक छात्रा के साथ दुष्कर्म करने के बाद उसकी नृशंस हत्या कर दी थी. इस जघन्य घटना के के एक माह बाद भी अपराधी पुलिस की पकड़ से बाहर हैं.

कई संगठन हुए शामिल

ऑल इंडिया महिला सांस्कृतिक संगठन, ऑल इंडिया डेमोक्रेटिक स्टूडेंट्स ऑर्गेनाइजेशन, ऑल इंडिया डेमोक्रेटिक यूथ ऑर्गेनाइजेशन, ऑल इंडिया किसान खेत मजदूर संगठन आदि ने प्रदर्शन के बाद उपायुक्त को मांग पत्र सौंपा. इसके पूर्व प्रदर्शन में शामिल लोग आम बागान साकची से उपायुक्त कार्यालय तक प्रतिवाद रैली निकाली. रैली में पोटका क्षेत्र के छात्रा और महिलाओं के साथ संगठन के सदस्य शामिल हुए.

उग्र जनआंदोलन होगा

महिला सांस्कृतिक संगठन के जिला सचिव चंदना बनर्जी ने कहा कि दुष्कर्म की घटना के बाद अभी तक दोषियों की गिरफ्तारी नहीं हो पाई है. पोटका के पुलिस-प्रशासन द्वारा मामले पर कोई सकारात्मक पहल नहीं की जा रही है. राज्य में दुष्कर्म की घटनाएं दिन पर दिन बढ़ती जा रही है. उन्होंने बताया कि ऐसे अपराधों को रोकने में राज्य सरकार कहीं ना कहीं कमजोर साबित हो रही है. यही वजह है कि ऐसे अपराध के खिलाफ महिला, पुरुष व बच्चे आंदोलन करने पर विवश हो रहे हैं. इस अवसर पर ऑल इंडिया महिला सांस्कृतिक संगठन के प्रांतीय अध्यक्ष पानमुनी सिंह ने कहा कि दुष्कर्म के बाद नाबालिक की हत्या जैसी घटना के एक माह बाद भी पुलिस अपराधियों को गिरफ्तार नहीं कर पाई है, इससे जाहिर होता है कि जनता की सुरक्षा में तैनात पुलिस कितनी तेज और सक्रिय है. अगर अपराधी गिरफ्तार नहीं किए जाते हैं तो क्षेत्र में उग्र जनआंदोलन होगा.

प्रदर्शन में ऑल इंडिया महिला सांस्कृतिक संगठन के प्रांतीय उपाध्यक्ष सनका महतो, ऑल इंडिया डीएसओ के प्रदेश उपाध्यक्ष आशा रानी पाल, प्रदेश सचिव समर महतो, पूर्वी सिंहभूम जिला अध्यक्ष रिंकी बंसरियार, पतित पावन कुईला, जिला सचिव युधिष्ठिर कुमार, कृषक खेत मजदूर संगठन के प्रांतीय सचिव विमल दास आदि समेत महिला व छात्राएं शामिल थीं.