- प्रदेश सरकार दे रही बिजली सेविंग पर जोर, टोरंट ऑफिस में चल रहे ऐसी

-सोमवार आधी रात से मंगलवार शात तक करीब आठ घंटे हुई बिजली कटौती

आगरा. सिटी में एक बार फिर अंधाधुंध बिजली कटौती की जा रही है. आगरा की जनता गर्मी और उमस से बेहाल है, लेकिन टोरंट पॉवर के अधिकारी एसी ऑफिस में बैठकर आराम फरमा रहे हैं. लोग बिजली गुल होने की जानकारी भी करते हैं, तो कटौती लखनऊ स्तर से कहकर कंपनी के अधिकारी समस्या से पल्ला झाड़ लेते हैं. जबकि उत्तर प्रदेश सरकार बिजली की कमी को दूर करने के लिए पॉवर सेविंग पर खासा जोर दे रही है. ऐसे में सवाल उठता है कि क्या यह पॉवर सेविंग का रूल टोरंट कंपनी पर लागू नहीं होता. सोमवार आधी रात से शुरू हुई बिजली कटौती मंगलवार शाम तक जारी रही. इस दौरान करीब आठ घंटे की कटौती की गई.

टोरंट ऑफिस रहता है कूल-कूल

बिजली कटौती का असर टोरंट पॉवर के कार्यालयों में नहीं दिख रहा है. सिटी की पब्लिक बिजली गुल होने से गर्मी और उमस से जूझ रही है, लेकिन टोरंट पॉवर अधिकारी आराम से अपने कार्यालय में एसी में बैठे रहते हैं. चर्च रोड पर पूर्णानंद प्लाजा में बने टोरंट ऑफिस की ही बात की जाए, तो यहां लगभग एक दर्जन एसी संचालित हैं.

यहां भी जबर्दस्त कूलिंग

एमजी रोड के पास ही स्थित कोटसन हाउस की बात करें, तो यह कंपनी का मुख्यालय है. यहां हर तरफ एसी लगे हुए हैं. इसके अलावा सदर बाजार, यमुनापार स्थित यमुना पॉवर बैंक आदि टोरंट ऑफिस में अधिकारियों के लिए दर्जनों एसी लगे हुए हैं.

पब्लिक के लिए रटा-रटाया जवाब

बिजली गुल होने पर उपभोक्ता जब जानकारी करने के लिए टोरंट के कॉल सेंटर पर फोन करते हैं, तो कॉल वेटिंग में ही रहता है. बात हो भी जाए तो बहुत बड़ी बात समझिए. एक ही जवाब मिलता है कि बिजली ऊपर से गई है.

आधी रात से शाम तक पौने आठ घंटे

सोमवार आधी रात से मंगलवार शाम तक पौने आठ घंटे की बिजली कटौती हुई. इससे लोग खासे परेशान रहे. एवरेज दो-दो घंटे की बिजली कटौती की जा रही है. एक बार बत्ती गायब हुई, तो फिर दो घंटे के बाद ही आ रही है.

कब गई, कब आई बिजली

-सोमवार आधी रात 12.30 बजे से 2.15 बजे तक.

-सुबह 5.55 बजे से सुबह 7.55 बजे तक.

-सुबह 10.20 बजे से दोपहर 12.20 बजे तक.

-अपराह्न 3.50 बजे से लेकर शाम 5.50 बजे तक.

वर्जन

टोरंट पावर लिमिटेड कॉरपोरेट कंपनी है. इसीलिए एसी यूज किए जा रहे हैं. दफ्तरों में एसी वैधानिक रूप से चल रहे हैं. इनका बिल भी जाता है. रही बात ब्लैक आउट की वजह से बिजली कटौती की तो इसके लिए कंपनी कतई जिम्मेदार नहीं है. जबकि लोग टोरंट कंपनी को ही दोषी मानकर कभी भी हंगामा कर देते हैं.

भूपेंद्र सिंह, टोरेंट अधिकारी