आगरा मेट्रो के लिए शुरू होने लगी तैयारियां

पैसेंजर्स को दी जाएंगी हर एक सुविधा

आगरा. आगरा मेट्रो का शिलान्यास होते ही तैयारियां भी शुरू हो गई हैं. शनिवार को टीम द्वारा कई स्थानों पर सर्वे किया गया. दो कॉरिडोर में चलने वाली आगरा मेट्रो की पार्किंग के लिए जमीन की व्यवस्था की जा रही है. हर एक मेट्रो स्टेशन के बाहर पार्किंग डेवलप की जाएगी. इसके अलावा स्टेशनों के बाहर फीडर बसें और शेयरिंग साइकिलें भी उपलब्ध होंगी. ये बसें और साइकिलें विभिन्न कॉलोनियों और मोहल्लों के लिए चलाए जाने पर विचार किया जा रहा है.

स्टेशन पहुंचना होगा आसान

अगर आपकी कॉलोनी या फिर मोहल्ले के पास मेट्रो स्टेशन नहीं है और आप मेट्रो स्टेशन तक गाड़ी भी नहीं ले जाना चाहते हैं तो भी परेशान होने की जरूरत नहीं है. हर मेट्रो स्टेशन से विभिन्न कॉलोनी और मोहल्लों के लिए फीडर बस चलाए जाने पर विचार किया जा रहा है. ये बसें यात्रियों को आने-जाने की सुविधा उपलब्ध कराएंगी. पहले कॉरीडोर के 15 स्टेशनों से कितनी बसें संचालित की जाए, इसके लिए चर्चा चल रही है.

शेयरिंग साइकिल की भी होगी व्यवस्था

फीडर बसों के अलावा शेयरिंग साइकिल का भी मेट्रो स्टेशन पर अरेंजमेंट करने की व्यवस्था की जाएगी. इसके लिए पैसेंजर्स को कोई चार्ज नहीं देना होगा. किस मेट्रो स्टेशन पर कितनी शेयरिंग साइकिल होंगी, यह अभी तय नहीं है. इस पर भी विचार चल रहा है. देहात क्षेत्र के बार्डर वाले मेट्रो स्टेशनों पर विशेष सुविधाएं रखीं जाएंगी.

ये हैं कॉरिडोरों की स्थिति

प्रथम कॉरिडोर सिकन्दरा से ताज ईस्ट गेट तक है, जिसकी लम्बाई 14 किलोमीटर है. 14 किलोमीटर में 6.3 किलोमीटर एलिवेटेड तथा 7.7 किलोमीटर अंडरग्राउंड है. इसके साथ ही 14 स्टेशन बनेंगे, जिसमें सात स्टेशन एलिवेटेड होंगे तथा सात स्टेशन अंडरग्राउंड होंगे. द्वितीय कारिडोर आगरा कैंट से कालिन्दी बिहार तक का है. इसकी कुल 16 किलोमीटर एलिवेटेड लम्बाई है, जिसमें 15 स्टेशन बनेंगे और इसका डिपो स्थल कालिन्दी बिहार में होगा.