आगरा (ब्‍यूरो)। थाना ताजगंज के अतिसंवेदनशील क्षेत्र तेलीपाड़ा में कई घरों के आगे 'मकान बिकाऊ है' के पोस्टर चस्पा हैं। ये पोस्टर्स यहां रह रहे राठौर समाज के दर्जनों परिवारों ने लगाए हैं, वह दहशत के कारण यहां से पलायन को मजबूर हैं। तेलीपाड़ा में बीती 28 अक्टूबर को मामूली कहासुनी के बाद समुदाय विशेष के लोगों ने राठौर समाज के पप्पू (20) पुत्र महावीर की हत्या कर दी थी। मामले में पुलिस की कोई ठोस कार्रवाई न होने और समुदाय विशेष के लोगों द्वारा आए दिन परेशान करने के कारण राठौर समाज के लोगों में दहशत है।

हत्या के मामले में दर्जनों नामजद

तेलीपाड़ा निवासी राजेश राठौर ने बताया कि पप्पू राठौर की हत्या के मामले में 43 लोगों को नामजद किया गया था। पुलिस ने कार्रवाई कर पप्पू खां और हाशिम को जेल भेज दिया है, जबकि अन्य सभी नामजद अभी तक फरार हैं। आरोप है कि पुलिस द्वारा दबिश तो दी गई लेकिन इसके बाद कोई ठोस कार्रवाई नहीं की गई है।

मुकदमा वापसी की दे रहे धमकी

तेलीपाड़ा में रहने वाले परिवारों में दहशत का महौल है। उनका कहना है कि आरोपित युवक दर्जनों की संख्या में आकर मुकदमा वापसी के लिए दबाव बना रहे हैं। वहीं पप्पू की हत्या के बाद समझौते के लिए आए दिन बात की जाती है, इंकार करने पर बच्चों के साथ मारपीट करते हैं। इससे दर्जनों परिवार मानसिक तनाव में हैं। पीडि़त पक्ष का कहना है कि तेलीपाड़ा में समुदाय विशेष बड़ी संख्या में है, जबकि राठौर समाज के करीब एक दर्जन परिवार हैं।

महिलाओं से करते हैं छेड़छाड़

पीडि़त परिवारों का क हना है कि कुछ युवक आए दिन महिलाओं पर आने-जाने पर कमेंट करते हैं। इससे युवती और महिलाओं का निकलना मुश्किल हो गया है। विरोध करने पर बच्चों के साथ मारपीट की जाती है। इस संबंध में कई बार इलाका पुलिस से शिकायत की गई है। अधिकारियों द्वारा रात और दिन दो सुरक्षाकर्मियों की ड्यूटी लगाने के लिए कहा गया था। कभी-कभी पुलिसकर्मी इलाके में गश्त के लिए आते हैं।

आजिज परिवार ने चस्पा किए पोस्टर

समुदाय विशेष के लोगों से आजिज राठौर समाज के लोग तेलीपाड़ा से पलायन करने को मजबूर हैं। इलाके में अधिकतर घरों के बाहर 'मकान बिकाऊ है' के पोस्टर लगाए गए हैं। पोस्टर्स को देख आए दिन लोग खरीदारी के लिए वहां पहुंच रहे हैं, जो वर्तमान कीमत से बहुत कम रकम देने की बात कर रहे हैं, ऐसे कुछ परिवार मकान बेचने को तैयार हैं।

पुलिस कार्रववाई पर खड़े किए सवाल

दहशत में तेलीपाड़ा के लोग पुलिस कार्रवाई पर सवाल खड़े कर रहे हैं, उनका कहना है कि हत्या के आरोप में मात्र दो लोगों को ही गिरफ्तार किया गया है, जबकि दूसरे लोग अभी भी फरार हैं। वह आए दिन मुकदमा वापसी के लिए दबाव बना रहे हैं। हत्या के मामले में जबरन समझौता करने की बात कर रहे हैं, इसके एवज में मोटी रकम भी देने को तैयार हैं।

ताजगंज के तेलीपाड़ा में घरों के बाहर पोस्टर चस्पा करने का मामला संज्ञान में आया है। जानकारी मिली है कि यह कार्य कुछ अराजकतत्वों द्वारा किया गया है। उन पर कार्रवाई की जाएगी। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

अविनाश जैसवाल, सीओ वीआईपी

Posted By: Inextlive

Crime News inextlive from Crime News Desk