एयरफोर्स का सुरक्षा घेरा खत्म, तैनात हैं केवल 39 पुलिस के जवान, 144 सुरक्षाकर्मियों की हुई थी डिमांड

Prayagraj@inext.co.in

PRAYAGRAJ: कौशांबी रोड पर कटहुला में 168 करोड़ रुपये की लागत से नया सिविल टर्मिनल बन कर तैयार है. वहां से हवाई सेवा ऑपरेशनल होने के बाद मंगलवार से पैसेंजर्स का आना-जाना भी शुरू हो गया. इसके बाद एयरपोर्ट की सुरक्षा से एयरफोर्स का सुरक्षा घेरा भी खत्म हो गया. एयरपोर्ट के साथ ही पैसेंजर्स की सुरक्षा का जिम्मा अब पुलिस और एडमिनिस्ट्रेशन पर आ गया है. इस पर एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया के अधिकारियों ने सवाल उठाया है.

काफी कम हैं सुरक्षा में तैनात जवान

अभी तक एयरफोर्स के अधीन वाले एयरपोर्ट पर फ्लाईट की लैंडिंग होती थी. उसका पूरा एरिया मध्य वायु कमान के एरिया आता था. जबकि कटहुला में बन कर तैयार एयरपोर्ट के सुरक्षा की जिम्मेदारी पुलिस और प्रशासन की है. सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए एयरपोर्ट अथॉरिटी की ओर से 144 पुलिसकर्मियों की डिमांड की गई थी. जबकि सुरक्षा में केवल 39 पुलिसकर्मी ही तैनात किए गए हैं.

बेहतर व्यवस्था की थी मांग

कौशांबी रोड से नए एयरपोर्ट तक पहुंचने के लिए चार किलोमीटर का जो रास्ता बनाया गया है, वह बहुत सुनसान है. हालांकि दिन में तो कोई ज्यादा खतरा नहीं है, लेकिन दोपहर बाद पैसेंजर्स से लूट पाट का खतरा हो सकता है. इसे लेकर एयरपोर्ट अथॉरिटी के अधिकारियों ने बेहतर व्यवस्था करने की मांग की थी.

मंगलवार को नए एयरपोर्ट से हवाई सेवा शुरू होने के बाद एसपी कौशांबी और डीएम कौशांबी ने एयरपोर्ट का निरीक्षण किया. एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया के अधिकारियों से मुलाकात कर सुरक्षा व्यवस्था पर चर्चा की. अधिकारियों ने सुरक्षा और बेहतर किए जाने की मांग की. इसके बाद एयरपोर्ट के मेन गेट पर डॉयल 100 की एक गाड़ी लगाई गई.

पुराना एयरपोर्ट एयरफोर्स के सुरक्षा घेरे में था. नए एयरपोर्ट की सुरक्षा की पूरी जिम्मेदारी पुलिस और एडमिनिस्ट्रेशन की है. केवल 39 पुलिसकर्मी तैनात किए गए हैं, जो कम हैं. सुरक्षा बढ़ाने की मांग की गई है.

सुनील यादव

डायरेक्टर, इलाहाबाद एयरपोर्ट