- दो मई को सेलिब्रेट होगा अक्षय तृतीया का पर्व मगर इस बार सहमे हैं खरीदार

- इलेक्शन के मद्देनजर चल रही छापेमारियों से खौफ खा रहे हैं लोग जबकि रसीद पुर्जे संग खरीद पर नहीं होती कोई प्रॉब्लम

- और भी हैं कई तरीके जिससे आसानी से की जा सकती है खरीदारी और नहीं रहेगा कोई झंझट

varanasi@inext.co.in

VARANASI: शुक्रवार को अक्षय तृतीया है. माना जाता है कि इस दिन आज जो कुछ खरीदेंगे उसका कभी क्षय नहीं होगा. हर साल अक्षय तृतीया पर ज्वैलरी मार्केट में बूम होता है. इस खास पर्व पर लोग गोल्ड, डायमंड, सिल्वर की खरीदारी करते हैं मगर इस बार हालात कुछ बदले हुए हैं. खरीदारों की भरमार है और उनके जेब में रोकड़ा भी है मगर सभी भयभीत है कि खरीदारी से पहले कहीं कोई लफड़ा ना हो जाये. ये खौफ है इलेक्शन कमीशन की सख्ती की वजह से. क्यों? यही तो है हमारी आज की ये स्पेशल रिपोर्ट.

सहमे हैं खरीदार, कैसे चढ़े बाजार!

महेश चंदानी के वाइफ की जिद है कि इस बार वो अक्षय तृतीया पर डायमंड नेकलेस लेंगी. महेश ने काफी पहले से इसके लिए तैयारी भी कर रखी है मगर सोमवार को उन्हें उनके बिजनेस पार्टनर ने डरा दिया. कहा कि अरे आजकल ज्यादा कैश लेकर या ज्वैलरी लेकर चलना ठीक नहीं. इलेक्शन की वजह से बहुत चेकिंग है और ज्यादा कैश मिलने पर अफसर लोग उसे सीज कर रहे हैं. महेश तब से टेंशन में हैं कि क्या करें और क्या ना करें.

पूरे शहर में है दहशत

इलेक्शन में धन-बल का मिसयूज ना हो इसके लिए इलेक्शन कमीशन के ऑर्डर पर लोकल एडमिनिस्ट्रेशन फ्लाइंग स्क्वॉड बना कर छापेमारियां कर रहा है. इसमें पुलिस भी लगी हुई है. इसका नतीजा ये है कि अब तक भ्0 हजार से ज्यादा कैश लेकर चलने वालों से काफी कैश जब्त किया गया है. ज्यादातर एक्शन उनके खिलाफ हो रहा है जो कैश ये इन्फार्मेशन नहीं दे पाते कि कैश कहां से ला रहे हैं, कहां ले जाना है और उसके व्हाइट मनी होने का सबूत क्या है. हालांकि इस रिएलिटी से अनजान आम लोग सिर्फ छापेमारियों की खबरों से ही दहशत में हैं और कैश लेकर चलने में घबरा रहे हैं.

कहीं पड़ न जाए असर

इस बार भी अक्षय तृतीया पर अच्छे बिजनेस की उम्मीद हर ज्वैलर्स को है मगर फिर भी सभी ये सोच कर परेशान है कि कहीं छापेमारियों की वजह से लोग सहमे ही ना रह जाएं. हरे कृष्ण ज्वेलर्स के संतोष अग्रवाल का कहना है कि उम्मीद तो इस बार भी ज्वेलरी मार्केट के बूम की है लेकिन पुलिस इतना परेशान कर रही है कि बाहर से ग्राहक आने में कतरा रहे हैं. शहर के लोग फिर भी आ रहे हैं लेकिन बनारस से सटे जिलों से ग्राहकों का आना न के बराबर है.

उम्मीद पर दुनिया कायम

ट्रू सो के अभय अग्रवाल का मानना है कि अक्षय तृतीया पर मार्केट हर बार अच्छा रहता है तो इस बार भी उम्मीद अच्छे की ही है. हां नोट लेकर चलने में परेशानी हो रही है लेकिन अगर रुपयों के साथ कागजात पूरे हैं तो उसमे भी कोई रिस्क नहीं है. इसलिए उम्मीद ही नहीं पूरा विश्वास है कि चुनावी सख्ती के बाद भी लोग मार्केट में निकलेंगे और लक्ष्मी सब पर मेहरबान होगी.

आप रहे टाइट तो नो फिक्र

चुनाव के दौरान चल रही सख्ती से परेशान होने की जरूरत नहीं है बल्कि खुद को मजबूत रखने की जरूरत है. अगर आप खुद को कागजात से टाइट रखेंगे तो पुलिस आपको परेशान नहीं करेगी. इसलिए अगर आप निकल रहे हैं चुनावी मौसम में शॉपिंग को तो इन बातों का रखे ध्यान..

- बैंक से रुपये निकालें तो विड्रॉल स्लिप साथ रखें

- चेक से रुपये विड्रॉल करने की कंडीशन में पासबुक अपडेट कराकर साथ रखें

- ज्वेलरी और शादी के परपज से परचेज करने जा रहे हैं तो शादी का कार्ड साथ रखें

- प्लास्टिक मनी यानि क्रेडिट या डेबिट कार्ड का यूज करें

- बड़े ज्वेलरी शो रूम्स में कार्ड स्वैप सिस्टम है, इसलिए जहां तक हो सके, पेमेंट कार्ड के थ्रू ही करें

- बड़े ज्वेलरी शोरूम्स होम डिलिवरी की सुविधा भी देते हैं

- इसलिए चुनावी सख्ती से बचने से लिए आप शोरूम में पहुंच अपने पसंद की ज्वेलरी पसंद कर ऑर्डर दे सकते हैं, डिलिवरी और पेमेंट आपके घर पर ही हो सकता है

- ज्वेलरी परचेज करने के बाद आप पक्की रसीद साथ रखें

- जांच के दौरान पकड़े जाने पर अगर मौके पर कोई कागजात पेश न कर सकें तो परेशान होने की नहीं है जरूरत

- पकड़े जाने के बाद रुपये या गहने इनकम टैक्स या सेल टैक्स डिपार्टमेंट को सौंपा जाता है

- इन दोनों डिपार्टमेंट्स में रुपये या ज्वेलरी पकड़े जाने के ख्ब् घंटे के अंदर सही कागजात पेश करने पर सारा माल वापस मिल जाता है

चुनाव का असर तो बहुत तगड़ा है. कस्टमर पैसे लेकर चलने में डर रहा है. यही वजह कि मार्केट कुछ डाउन है लेकिन उम्मीद है कि अक्षय तृतीया पर मार्केट उठेगा और सब अच्छा होगा.

-सुमित अग्रवाल, चेतमणी ज्वेलर्स

रुपये लेकर चलने में कुछ दिक्कत है लेकिन सब अच्छा रहेगा उम्मीद तो यही है क्योंकि अक्षय तृतीया पर जो शॉपिंग करने वाले हैं वो तो निकलेंगे ही.

-अभय अग्रवाल, ट्रू सो

पुलिस बहुत परेशान कर रही है लेकिन जिसकी श्रद्धा है वो तो निकलेगा ही अक्षय तृतीया पर खरीददारी करने. इसलिए उम्मीद है कि सब अच्छा रहेगा.

-संतोष अग्रवाल, हरे कृष्ण ज्वेलर्स