lucknow@inext.co.in
LUCKNOW: योगी सरकार के करीब दो साल पूरे होने पर सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने संकल्प पत्र में किए गये वादों को पूरा न करने का आरोप लगाते हुए कहा कि भाजपा ने समाज में नफरत फैलाई जिससे घटनाओं में इजाफा हो रहा है। पुलिस अधिकारी अपनी कुर्सी को बचाने के लिए फर्जी एनकाउंटर कर रहे है। वादे पूरे न होने से जनता आक्रोशित है जिसकी वजह से गाजीपुर जैसी घटनाएं सामने आ रही है। कभी पुलिस को समझ नहीं आता कि किसे ठोंकना है और कभी जनता को। दावा किया कि केंद्र सरकार की किसान विरोधी नीतियों की वजह से देश भर में करीब 60 हजार किसान आत्महत्या कर चुके है। दो महीने में समस्याएं दूर न करने से एक हजार शिक्षा मित्र आत्महत्या कर चुके है। युवाओं को लैपटॉप देने का वादा किया गया था पर मुख्यमंत्री लैपटॉप चलाना नहीं जानते है इसलिए तय कर लिया कि नहीं देंगे। कहा कि नये साल में देश नये पीएम को चुनने के लिए तैयार है।

कोई इंवेस्टमेंट नहीं हुआ
अखिलेश ने आरोप लगाया कि भाजपा ने इंवेस्टर्स समिट में अपने दोस्तों को बुलाया था इसलिए किसी भी क्षेत्र में कोई इंवेस्टमेंट नहीं हुआ। इसके विपरीत चार लाख करोड़ का चायनीज सामान भारत में बिक रहा है। एफडीआई और जीएसटी की पहले खिलाफत की और बाद में बिना किसी तैयारी के इसे लागू कर दिया। इससे देश के सात करोड़ दुकानदार बेरोजगार हो गये। भर्तियों में इतना घोटाला हुआ कि वह जांच के दायरे में आ गयीं। पूर्वांचल एक्सप्रेस वे की कीमत तो घटा दी पर सर्विस रोड, एमेनिटीज का पता नहीं है। केवल एक्सप्रेस वे की घास हटाने का ही काम हो सका है। यही हाल लखनऊ की इनर रिंग रोड का भी है। मंत्रियों के कार्यालय में सचिव जादू कर रहे थे। सबकी जांच हो जाए तो असलियत सामने आ जाएगी। अधिकारी तो केवल मोहरा है, असली सामान कहां जाना था उनका खुलासा भी होना चाहिए। वहीं भाजपा सांसद सावित्री बाई फुले से मुलाकात पर बोले कि वे आरक्षण और दलितों के साथ अन्याय पर अपना दर्द साझा करने आई थी। गठबंधन पर बोले कि चुनाव में विचारों और लोगों का संगम होने जा रहा है।

सबसे खराब लॉ एंड आर्डर
अखिलेश ने कहा कि योगी सरकार में सूबे का लॉ एंड आर्डर सबसे खराब है। महिलाओं और बेटियों के साथ होने वाली घटनाओं से पूरी दुनिया में शर्म से सिर झुक रहा है। सरकारी आंकड़ों के हिसाब से सूबे में आपराधिक घटनाओं में दोगुना इजाफा हुआ है। जेल की दुर्दशा पर बोले कि अगर जेल में हत्या पर सख्त कार्रवाई होती हो जाती तो ऐसी नौबत न आती। वहीं कुंभ पर कहा कि खुफिया रिपोर्ट के मुताबिक आयोजन सही से नहीं हो रहा है।

सपा सरकार का काला अध्याय भूले अखिलेश
वहीं दूसरी ओर भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डॉक्टर महेंद्र नाथ पांडेय ने पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की प्रेसवार्ता पर पलटवार करते हुए कहा सपा प्रमुख अपनी व अपने पिता की सरकार का काला अध्याय भूल गए है। सपा की सरकार गुंडों और माफिया की सरकार थी। भाजपा नहीं, सपा उद्योगपतियों की पार्टी रही है। अपराधियों पर योगी सरकार ने शिकंजा कसा है। संगठित अपराध की कमर तोड दी है। प्रदेश की कानून व्यवस्था पूरी तरह से नियत्रंण में है जबकि सपा सरकार के कार्यकाल में पुलिस थाने सपाई चलाते थे।

गाजीपुर : सीएम योगी ने पथराव में शहीद पुलिसकर्मी के परिजनों को 50 लाख की आर्थिक मदद व नाैकरी का किया एेलान

गाजीपुर : शहीद कांस्टेबल को अफसराें ने दिया कंधा ताे बिलखते बेटे ने कही ये बात, अब तक 11 अरेस्ट

National News inextlive from India News Desk