अमरीका को धमकी
कैरो (रायटर्स)। अमरीका द्वारा अपना दूतावास तेल अवीव से इजराइल की राजधानी येरुशलम शिफ्ट करने की योजना पर अल कायदा आतंकी अयमान-अल-जवाहिरी ने सोशल मीडिया पर एक वीडियो जारी करते हए अमरीका को जेहाद की धमकी दे दी है। दरअसल, पिछले साल दिसंबर में अमेरिका ने येरुशलम को इजराइल की राजधानी के रूप में मान्यता दी थी। इसके बाद अब वह अपना दूतावास भी तेल अवीव से येरुशलम शिफ्ट कर रहा है। इस पर अल कायदा आतंकी जवाहिरी ने अमरीका को एक वीडियो के जरिये धमकी देते हुए कहा है कि अमेरिका का येरुशलम में अपना दूतावास शिफ्ट करना इस बात का प्रूफ है कि फिलिस्तीन के साथ बातचीत और शांति की कोशिशें नाकाम हो चुकी हैं। अब मुस्लिमों को अमेरिका के खिलाफ जिहाद करना चाहिए।

मुस्लिम धरती भी है तेल अवीव
अपने चार मिनट और 43 सेकंड के वीडियो में जवाहिरी ने कहा, 'सभी मुस्लिम देशों ने संयुक्त राष्ट्र चार्टर पर हस्ताक्षर करके इजराइल को प्रभावी रूप से मान्यता दी है, जो इजराइल समेत हर सदस्य राज्य की क्षेत्रीय अखंडता का सम्मान करने के बारे में बताता है।' जवाहिरी ने आगे कहा, 'कई लोगों ने इजराइल के साथ सार्वजनिक या गुप्त संबंध भी स्थापित किए हैं और स्वीकार किया है कि तेल अवीव या पश्चिम यरूशलेम इजराइल की राजधानी है, यह मुस्लिम भूमि भी है, जिसे यहूदियों को नहीं दिया जा सकता है।'

1948 में इजराइल बना देश
हालांकि रिकॉर्डिंग की प्रामाणिकता अभी सत्यापित नहीं की जा सकी है। बता दें कि 2011 में ओसामा बिन लादेन की मौत के बाद, जवाहिरी ही इस आतंकी संगठन अल कायदा का सबसे बड़ा नेता है। गौरतलब है कि 1948 में इजराइल ने आजादी की घोषणा करते हुए खुद को एक अलग देश के रूप में अपनी पहचान बनाई थी। इसके बाद इसने 1967 मध्यपूर्व युद्ध में पूर्वी येरुशलम पर कब्जा किया। इसके चलते इजराइल से करीब 7 लाख फिलिस्तीनियों को देश छोड़कर जाना पड़ा था। इजराइल पूरे येरूशलम को अपनी राजधानी बताता है, जबकि फिलिस्तीनी सिर्फ पूर्वी येरूशलम को अपनी राजधानी बताते हैं।

International News inextlive from World News Desk