20 स्टूडेंट्स की है टीम

03 माह की मेहनत से तैयार

125 सीसी का है इंजन

90 किलो है कार का वजन

100 किलो उठा सकती है भार

35 किमी प्रति लीटर है एवरेज

90 किमी पर ऑवर मैक्सिमम स्पीड

-----------

-बीटेक इन मैकेनिकल एंड प्रोडक्शन ब्रांच के स्टूडेंट्स ने तैयार की रेसिंग कार

-टेक फेस्ट के गोकार्ट प्रतियोगिता में पार्टिसिपेट करेंगे एमएनएनआईटी के स्टूडेंट्स

prayagraj@inext.co.in

PRAYAGRAJ: मोतीलाल नेहरू नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी के स्टूडेंट्स कई बार अपनी प्रतिभा के दम पर काबिलियत का लोहा मनवाते आए हैं। इस बार भी कॉलेज के स्टूडेंट्स ने ऐसा ही कारनामा करके दिखाया है। इसमें एमएनएनआईटी के 20 स्टूडेंट्स ने कबाड़ के जरिए रेसिंग कार तैयार की है। संस्थान के बीटेक इन मैकेनिकल एंड प्रोडक्शन ब्रांच के स्टूडेंट्स द्वारा तैयार की गई कार को देशभर के टेक फेस्ट में उतारेंगे।

125 सीसी का लगाया है इंजन

संस्थान के स्टूडेंट्स द्वारा तैयार की गई रेसिंग कार में 125 सीसी का इंजन लगाया गया है। कार तैयार करने वाले स्टूडेंट्स की टीम के मेंबर बीटेक स्टूडेंट सौरभ सिंह ने बताया कि कार का वजन 90 किलो है। यह 100 किलो का लोड लेकर चल सकती है। कार में केवल एक सीट है। पेट्रोल से चलने वाली यह कार एक लीटर में 35 किलोमीटर चलती है। कार की अधिकतम स्पीड 90 किलोमीटर प्रति घंटा है। कार चलने के सिर्फ सात सेकंड के अंदर ही ये 90 की रफ्तार पकड़ ली है। कार की लागत सिर्फ एक लाख रुपये है, जबकि बाजार में यह एक लाख तीस हजार रुपये तक में मिलती हैं। स्टूडेंट्स ने यह कार तीन माह की मेहनत से तैयार की है। उन्होंने कार का ट्रायल भी संस्थान में ही किया है।

मार्च 2020 में गोकार्ट कांप्टीशन में करेंगे पेश

सौरभ ने बताया कि उनकी तैयारी चंडीगढ़ के लवली प्रोफेशन यूनिवर्सिटी के में होने वाले इंटरनेशनल गोकार्ट कंपटीशन कांप्टीशन के दौरान उसे पेश करने की है। कांपटीशन मार्च 2020 में आयोजित होगा। जहां वह अपनी कार को दौड़ाएंगे और उसका प्रदर्शन करेंगे। इसको लेकर कार बनाने वाले सभी स्टूडेंट्स बेहद उत्साहित है। इसके लिए स्टूडेंट्स अभी से तैयारियों में जुटे हैं। इससे वह अपनी तैयार की गई कार का बेहतर ढंग से ब्रांडिंग कर सकें।

Posted By: Inextlive

inext-banner
inext-banner