-सड़क के किनारे मौजूद भूखे-प्यासे लोगों की मदद को बढ़े हाथ

-पुलिस डिपार्टमेंट के साथ ही विभिन्न संस्थाओं के लोग असहायों की कर रहे मदद

PRAYAGRAJ: कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण को कंट्रोल करने के लिए पूरे देश में लॉकडाउन कर दिया गया। 21 दिन के लॉक डाउन का असर यह रहा कि अलग-अलग जिलों से आने वाले हजारों की संख्या में मजदूरों और सड़क किनारे रहने वाले गरीब असहायों के पास खाने के लिए भी कोई व्यवस्था नहीं हो पा रही है। ऐसे में संगम नगरी प्रयागराज के लोगों ने ऐसे लोगों की मदद के लिए हाथ बढ़ाया है। लोग खाने का पैकेट बनवाकर ऐसे लोगों की मदद कर रहे हैं। इसमें भी सबसे खूबसूरत चेहरा उभरकर आया है पुलिस डिपार्टमेंट का। पुलिस डिपार्टमेंट के आलाधिकारियों से लेकर कांस्टेबल तक इस आपदा के समय अपने सैलरी से लोगों की मदद करते दिख रहे हैं।

जेल अधीक्षक ने बांटे लंच पैकेट

नोएडा और दूसरे कई डिस्ट्रिक्ट में फंसे लोगों को उनकेगंतव्य तक पहुंचाने के लिए बस सेवा शुरु हो गई। ऐसे में संडे को बड़ी संख्या में लोग सिटी पहुंचे। जहां पुलिस डिपार्टमेंट के लोगों ने मदद की। वहीं नैनी एरिया में बड़ी संख्या में मजदूरों की टोली महोबा से चार दिन बाद पैदल चलते हुए नैनी पहुंची। इस बात की जानकारी होते ही नैनी जेल अधीक्षक एचबी सिंह ने अपनी ओर से पैदल आ रहे लोगों की मदद के लिए तत्काल लंच पैकेट तैयार कराए। नैनी पुल के पास रुके लोगों तक पहुंचकर उन्होंने बच्चों से लेकर बड़ों तक सभी को लंच पैकेट दिया। उन्होंने बताया कि ऐसे समय में जितनी हो सके सभी को मदद के लिए आगे आना चाहिए। जिससे कोई भी भूख ना रह जाए। इसके पहले जेल में हो रहे निर्माण कार्य में लगे मजदूरों को जेल अधीक्षक की ओर से राशन का सामान वितरित किया गया। जेल अधीक्षक ने बताया कि जेल में निमार्ण कार्य चल रहा है। अचानक हुए लॉक डाउन के कारण वहां चल रहे निमार्ण कार्य मे जुटे मजदूर भी कही जा नहीं सकते है। ऐसे में जेल प्रशासन की तरफ से उनके रहने और खाने के इंतजामा किया गया है। जिससे वह लॉक डाउन के समय पलायन ना कर सके और सुरक्षित रहे।

नंदी ने यूनिवर्सिटी के हॉस्टल्स में भिजवाई राशन सामग्री

-छात्रों ने फेसबुक पोस्ट पर की थी राशन खत्म होने की समस्या

लॉकडाउन के दौरान इलाहाबाद यूनिवर्सिटी के हॉस्टलों में बड़ी संख्या में छात्र मौजूद हैं। इनके सामने अब आटा, दाल, चावल के साथ ही अन्य जरूरी सामानों की क्राइसिस शुरू हो गई है। शनिवार को कुछ छात्रों ने फेसबुक पर अपनी समस्या पोस्ट की थी। जानकारी होने पर उत्तर प्रदेश के नागरिक उड्यन एवं कैबिनेट मंत्री व शहर दक्षिणी विधायक नंद गोपाल गुप्ता नंदी ने रविवार को आटा, दाल, चावल के साथ ही राशन से संबंधित अन्य राहत सामग्री इलाहाबाद यूनिवर्सिटी के हॉस्टलों में भेजी।

छात्रों को मिली राहत

कैबिनेट मंत्री द्वारा भेजी गई राहत सामग्री मिलते ही छात्रों में खुशी छा गई। हिंदू हॉस्टल, डायमंड जुबिली हॉस्टल के साथ ही अन्य हॉस्टलों में रह रहे छात्रों के बीच बोरी में पहुंचे राशन सामग्री को बांटा गया। राहत सामग्री हॉस्टलों तक पहुंच सके इसके लिए इलाहाबाद यूनिवर्सिटी एडमिनिस्ट्रेशन ने एम्बुलेंस की व्यवस्था की। इसके बाद एंबुलेंस के जरिए राशन सामग्री हॉस्टल्स तक पहुंचाई गई। छात्र संघ के पूर्व उपाध्यक्ष विक्रांत सिंह ने कैबिनेट मंत्री तक छात्रों की समस्या पहुंचाई थी।

Posted By: Inextlive

inext-banner
inext-banner