-एयरफोर्स बम्हरौली में तैनात वारंट अफसर का बेटा है युवक, इंटर का छात्र था युवक

-फाइनेंशियल क्राइसिस से परेशान अधेड़ ने कमरे के बाथरूम में फांसी लगाकर की खुदकुशी

PRAYAGRAJ: धूमनगंज में गुरुवार रात दो अलग जगहों पर दो लोगों ने फांसी लगा ली. एयरफोर्स के वारंट अफसर के बेटा शुभाशीष (19) ने गुस्से में तो छोटेलाल (42) ने आर्थिक तंगी से आजिज आकर जान दे दी. घर के अंदर कमरे में लटकते हुए शव को देख दोनों के परिजनों में कोहराम मच गया. मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया.

मांग की डांट पर नाराज हो उठाया कदम

कौशांबी जिले के सैनी थाना कोतवाली एरिया स्थित गरई गांव निवासी गणेश शंकर मिश्र एयरफोर्स बम्हरौली में वारंट अफसर के पद पर तैनात हैं. धूमनगंज क्षेत्र स्थित पोगहट के शकुंतला कुंज कॉलोनी में वह परिवार के साथ रहते हैं. परिवार में उनकी पत्नी सुनीता देवी व दो बेटियां और इकलौता बेटा शुभाशीष ही थे. बेटियों की शादी के बाद घर में पत्नी और बेटा कुल तीन लोग ही थे. बताते हैं कि गुरुवार रात शुभाशीष काफी देर से टीवी देख रहा था. इस पर मां ने उसे डांटते हुए टीवी बंद करने के लिए कहा. इसके बाद उसने खाना खाया और अपने कमरे में सोने चला गया. सुबह जब गणेश शंकर व मां सुनीता देवी उठी तो कमरे में बेटे के शव को लटकते हुए देख चीख पड़ी. वह इंटर का छात्र था. माना जा रहा है कि मां की डांट से नाराज होकर उन्होंने यह कदम उठाया.

कालिंदीपुरम में हुई दूसरी वारदात

दूसरी घटना धूमनगंज एरिया के कालिंदीपुरम में हुई. मध्य प्रदेश रीवां स्थित हनुमना निवासी शारदा कोल यहां परिवार के साथ रहता था. परिवार में एक बेटा, तीन बेटियां और पत्नी निर्मला थी. बताते हैं कि तीन-चार दिन से वह पैसों की तंगी को लेकर काफी व्यथित था. गुरुवार रात वह घर आया और बच्चों के साथ खाना खाया. खाते समय भी वह पैसों की तंगी को लेकर पत्नी से चर्चा करता रहा. रात में बच्चे व पत्नी सो गए तो उसने कमरे के बाथरूम में साड़ी और बल्ली के सहारे फांसी लगा ली. पुलिस ने उसके शव को भी पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया.

Posted By: Inextlive