- अब भी वोटर लिस्ट में नाम दर्ज करवाने के दावों में नहीं है दम

- छह महीने पहले एप्लाय करने के बावजूद नहीं हुआ नाम दर्ज

dehradun@inext.co.in

DEHRADUN:
वोटर आईडी बनाने की कतार में 10 हजार यूथ लगे हुए हैं. तीन से छह माह बीतने के बाद भी उनका वोटर आईडी कार्ड नहीं बन पाया है. इन 10 हजार यूथ के फार्म तहसील में धूल फांक रहे हैं. चुनाव की घोषणा होते ही लोगों ने तहसील पहुंच जानकारी लेनी शुरू कर दी है. तहसील कर्मचारी अब आनन-फानन में काम निपटाने में लगे हुए हैं, लेकिन पुरानी पेंडेंसी के चलते वे नए फार्म लेने में कतरा रहे हैं. यही वजह है कि टयूजडे को तहसील कर्मचारी लोगों को फार्म भरकर जमा करने की जगह ऑनलाइन वोटर आईडी कार्ड अप्लाई करने की सलाह देते रहे.

छह महीने तक की एप्लीकेशन पेंडिंग
तहसील परिसर में पहले ही 10 हजार फार्मो का ढेर लगा है. वोटर आईडी बनाने के लिए यूथ ने फार्म एक ही दिन में जमा नहीं कर दिए हैं, बल्कि किसी ने छह माह तो किसी ने तीन माह पहले फार्म जमा कर दिया था लेकिन कर्मचारियों की सुस्ती का आलम बना रहा और इन फार्मो की डाटा एंट्री नहीं हो पाई.

ऑनलाइन तो गिने ही नहीं
ये 10 हजार फार्म तो यूथ ने सीधे भरे हैं, जबकि ऑनलाइन भी कई यूथ ने एप्लाई किया है. ऑनलाइन एप्लीकेशंस की इस तरफ नजर डालने का समय तो कर्मचारियों को अभी मिल ही नहीं पाया है. ऐसे में ऑनलाइन का लोड कर्मचारियों पर अलग से पड़ने वाला है.

16 तक कर सकते हैं एप्लाई
डीएम एसए मुरुगेशन पहले ही कह चुके हैं कि 16 मार्च तक नए वोटर आईडी कार्ड बनाने के लिए कोई भी एप्लाई कर सकता है. ऑनलाइन ही नहीं बीएलओ और सीधे तहसील पहुंचकर भी एप्लाई किया जा सकता है.

ऑनलाइन एप्लाई की सलाह
ट्यूजडे को निर्वाचन की 1950 हेल्पलाइन में भी यूथ ने कॉल की और कहा कि तहसील से नए फॉर्म एक्सेप्ट नहीं किये जा रहे हैं और ऑनलाइन एप्लाई करने को कहा जा रहा है.

आईडी के लिए सिफारिशें
वोटर आईडी बनवाने के लिए लोग उच्च अधिकारियों की सोर्स लेकर आ रहे हैं. पूर्व चीफ सेक्रेटरी सहित अन्य अधिकारियों की सिफारिश लेकर तहसील में यूथ पहुंच रहे हैं.

वोटर की स्थिति

कुल वोटर्स- 1390428

पुरुष- 634345

महिला- 736021

थर्ड जेंडर- 62

यूथ- 7698293