- अमेरिका में रह रहे हैं भारतीय मूल के महेश वीएन व ज्योतिमोहन

patna@inext.co.in

SAHARSA/PATNA: बुधवार को सहरसा दत्त्तक ग्रहण संस्थान में पल रही चार वर्षीया बच्ची को माता-पिता मिल गए. अमेरिका वाल्टीमोर (वा¨शगटन) में रह रहे भारतीय मूल के दंपती इंजीनियर महेश वीएन और प्रो. ज्योति मोहन ने दत्तक ग्रहण संस्थान पहुंचकर सभी कानूनी प्रक्रियाएं पूरी करने के बाद बच्ची को गोद लिया है.

केरल के मूल निवासी महेश बीएन अमेरिका के जॉनसन सेंट्रो कंपनी के अधिकारी हैं, जबकि उनकी पत्नी तामिलनाडु की मूल निवासी ज्योतिमोहन मार्गेन स्टेट विवि वाल्टीमोर में इतिहास की प्राध्यापक हैं. ज्योतिमोहन अमेरिका में भारतवासियों को हिंदुस्तानी संगीत भी सिखाती हैं. महेश वीएन ने बताया कि उन्हें पूर्व से 16 वर्षीया नंदिका नाम की पुत्री और 12 वर्षीय बेटा अर्जुन है. उन्हें एक और बच्ची की इच्छा थी, जिसके लिए तीन वर्ष पूर्व आवेदन किया था. एक वर्ष पूर्व उन्हें इसकी स्वीकृति मिली. कुछ दिन पूर्व सहरसा के दत्तक ग्रहण संस्थान से बच्ची मिलने की सूचना दी गई. सूचना मिलते ही परिवार में उल्लास का वातावरण छा गया. जानकारी देते हुए सहायक निदेशक बाल संरक्षण इकाई के भास्कर प्रियदर्शी ने बताया कि बच्ची को एक अच्छा परिवार मिला है. मौके पर बाल संरक्षण पदाधिकारी मृगशेखर श्रीवास्तव, संस्थान के समन्वयक तथा अन्य कर्मी मौजूद थे.