dehradun@inext.co.in

DEHRADUN: उत्तराखंड की बेटियां हर क्षेत्र में नई ऊंचाइयों को छू रही हैं. इसी कड़ी में देहरादून के नकरौंदा गांव में रहने वाली 29 वर्षीय अमीषा चौहान ने दुनिया की सबसे ऊंची चोटी माउंट एवरेस्ट को फतह कर देश एवं प्रदेश का नाम रोशन किया है. उन्होंने एवरेस्ट की 8848 मीटर ऊंची चोटी पर गत 23 मई की सुबह 8.20 बजे सफलतापूर्वक फतह कर तिरंगा फहराया.

दिल्ली से देहरादून पहुंची
शनिवार को दिल्ली से देहरादून के जौलीग्रांट एयरपोर्ट पहुंची अमीषा का क्षेत्रवासियों व टीएचडीसी (टिहरी हाइड्रो डेवलपमेंट कॉरपोरेशन) इंडिया लिमिटेड के अधिकारियों ने फूल मालाओं से स्वागत किया. एयरपोर्ट से जुलूस के रूप में अमीषा चौहान का काफिला नकरौंदा स्थित उनके निवास पर पहुंचा. अमीषा इससे पहले भी गोलापांगरी जैसी कई चोटियों पर तिरंगा फहरा चुकी है. स्वागत करने वालों में पार्षद अजेयता पंवार, पूर्व प्रधान नकरौंदा राहुल पंवार, सौरभ नौडि़याल, राकेश नेगी, पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष डीएवी नितिन खत्री, अनिल मेहरा, विनय शर्मा, जगदीश पोखरियाल, विपिन भट्ट आदि शामिल थे. इससे पूर्व, एयरपोर्ट पर मीडिया से अपने अनुभव साझा करते हुए अमीषा ने बताया कि एवरेस्ट ट्रैकिंग के दौरान उन्हें तमाम चुनौतियों का सामना करना पड़ा. लेकिन, उन्होंने हिम्मत न हारते हुए इस मिशन को पूरा किया. उन्होंने मिशन के सभी सहयोगियों का आभार जताते हुए कहा कि बेटियां आज किसी भी क्षेत्र में पीछे नहीं हैं. इसलिए उन्हें लगातार आगे बढ़ने के लिए प्रोत्साहित किया जाना चाहिए. अमीषा के पिता रविंद्र चौहान, मां सुमिता चौहान व भाई शशांक चौहान ने कहा कि यह उनके लिए अविस्मरणीय दिन है.