-अध्यक्ष बोले, कानपुर की धरती भाजपा के लिए सौभाग्यशाली, गठबंधन का बताया भ्रष्टाचारियों और बेईमानों का 'गठजोड'़

-राम मंदिर पर कांग्रेस को बोलने का अधिकार नहीं, 'बनता भारत, बढ़ता भारत' के नारे के साथ चुनाव में उतरेगी भाजपा

kanpur@inext.co.in
KANPUR : कानपुर की धरती से भाजपा ने 2014 के बाद एक बार फिर लोकसभा चुनाव 2019 का 'बिगुल' फूंक दिया है. यूपी में 74 प्लस सीटों का संकल्प लेकर चुनाव में उतरी भारतीय जनता पार्टी ने जोरदार आगाज के साथ राम मंदिर निर्माण को भी अपने चुनावी 'केंद्र' में रखा है. कानपुर- बुंदेलखंड बूथ अध्यक्ष सम्मेलन में 'चुनाव रण' की घोषणा करते हुए भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने गठबंधन पर तीखा हमला करते हुए कहा कि यह भ्रष्टाचारियों और बेईमानों का गठबंधन है. यूपी में अभी सिर्फ 2 ही भ्रष्टाचारी एक साथ आए हैं, भगवान करे अन्य सभी विपक्षी एक साथ आ जाएं. बूथ अध्यक्षों को साफ संदेश देते हुए अमित शाह ने कहा कि 50 परसेंट से ज्यादा वोटों पर भाजपा का कब्जा हाेना चाहिए.

नए नारे के साथ उतरी भाजपा
निराला नगर स्थित बूथ सम्मेलन में अमित शाह ने 4बी 'बनता भारत, बढ़ता भारत' के नए नारे के साथ चुनाव में उतरेगी. जबकि विपक्षी पर हमला बोलते हुए उन्होंने कहा कि बुआ, भतीजा, भाई और बहन ही इनके केंद्र में हैं. आम जनता और गरीबों के कल्याण को लेकर इन्होंने कोई कार्य नहीं किया. गठबंधन पर तीखा तंज कसते हुए अमित शाह ने कहा कि एनडीए का पीएम नरेंद्र मोदी तय है. लेकिन गठबंधन का पीएम हर दिन बदलेगा. मंडे को पीएम मायावती, ट्यूजडे को अखिलेश यादव, वेडनसडे को ममता बनर्जी, थर्सडे को शरद पवार, फ्राइडे को एचडी देवगौड़ा और सैटरडे को एमके स्टालिन होंगे. संडे को पूरा देश छुट्टी पर चला जाएगा.

राम मंदिर पर हम ही बनाएंगे
सीएम योगी आदित्यनाथ एक तरफ जहां मंदिर के मुद्दे पर कुछ नहीं बोले तो वहीं अमित शाह ने कहा कि राम मंदिर भाजपा के लिए आस्था का विषय है. कहा कि कांग्रेस के नेता व वकील कपिल सिब्बल सुप्रीम कोर्ट में हलफनामा देते हैं कि चुनाव के बाद राम मंदिर की सुनवाई हो. लेकिन 1993 से केंद्र सरकार के पास राम जन्मभूमि की 42 एकड़ का स्वामित्व था. सुप्रीम कोर्ट में हलफनामा देकर भाजपा ने साफ कर दिया है कि मंदिर निर्माण जल्द से जल्द कर के ही रहेंगे. यूपी के विकास के लिए केंद्र ने 8 लाख 80 हजार करोड़ का पैकेज दिया है.

 

अमित शाह की बड़ी बातें

1. चुनाव में जाने से पहले गठबंधन के सभी नेता एनआरसी के मुद्दे पर अपना रुख जनता के सामने स्पष्ट करें. विपक्षी घुसपैठियों को अपना वोट बैंक समझते हैं.

2. जब विधानसभा के चुनाव थे तब भी यूपी में 2 लड़के एक साथ आए थे. आज भी गठबंधन हुआ है. बहुत कुछ कहते थे, लेकिन जब बीजेपी का कार्यकर्ता बूथ के मैदान में उतरा, सब गठबंधन को ध्वस्त कर के 325 सीट ले कर आया.

3. जिस उत्तर प्रदेश में कानून व्यवस्था हमेशा बिगड़ी हुई रहती थी, आज वहां योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में कानून का राज है.

4-जो गठबंधन भाजपा के खिलाफ हुआ है, वह गठबंधन अपराध, भ्रष्टाचार और स्वार्थी राजनीति का गठबंधन है.

5. आज पूरे उत्तर प्रदेश से गुंडों का पलायन हो चुका है. आज गुंडा तख्ती लगाकर घूम रहा है कि मुझे जेल में डाल दो.

6. बीजेपी की बढ़ती लोकप्रियता और नरेंद्र मोदी के बढ़ते हुए राजनीतिक प्रचार-प्रसार को रोकने के लिए गठबंधन हुआ है.

7. यूपी के कार्यकर्ताओं के जोश को अच्छे से जानता हूं, वे सभी भारत मां के जयकारों के साथ गठबंधन करने वालों को नीचे लाने के लिए तैयार बैठे हैं.

8. देश को मजबूर नहीं, मजबूत सरकार चाहिए. जातिवाद को समाप्त भाजपा सरकार ने समाप्त किया है.

9. उरी का बदला पाकिस्तान में घुसकर लिया. सर्जिकल स्ट्राइक के बाद भारत के प्रति दुनिया का रुख बदला है.

10. योगी, पांडेय और नड्डा यूपी में प्रचंड बहुमत लेकर दिल्ली पहुंचे, ताकि मोदी जी को फिर कहना पड़े कि यूपी की वजह से सरकार बनी.

11. गरीब सर्वणों को 10 परसेंट आरक्षण देकर सबका साथ, सबका विकास के नारे को सच किया.

-------------

टाइम लाइन

-1.49 बजे पर कार्यक्रम स्थल पर पहुंचा हेलिकॉप्टर.

-1.57 बजे मंच पर पहुंचे अमित शाह और योगी आदित्यनाथ.

-2.06 पर योगी आदित्यनाथ ने बोलना शुरू किया.

-2.16 बजे अमित शाह ने अपना संबोधन शुरू किया.

-2.50 बजे हेलिकॉप्टर से अवध के लिए रवाना हुए.

मंच पर यह रहे मौजूद
बूथ सम्मेलन के मंच पर प्रदेश के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्या, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डा. महेंद्रनाथ पांडेय, क्षेत्रीय अध्यक्ष मानवेंद्र सिंह, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री व चुनाव के प्रदेश प्रभारी जेपी नड्डा, केंद्रीय मंत्री व महामंडलेश्वर साध्वी निरंजन ज्योति, राष्ट्रीय संगठन मंत्री शिवप्रकाश, राज्य मंत्री मन्नू कोरी, रणवेंद्र प्रताप सिंह, सांसद देवेंद्र सिंह भोले, कैबिनेट मंत्री सतीश महाना, सत्यदेव पचौरी, महापौर प्रमिला पांडेय सहित बांदा के सांसद और झांसी के महापौर भी मौजूद रहे.

बूथ अध्यक्षों को िदया संदेश

साल 1982 में मैं भी एक बूथ अध्यक्ष था. ये पार्टी की महानता है कि एक बूथ पर पोस्टर चिपकाने वाले सामान्य कार्यकर्ता को आज विश्व की सबसे बड़ी पार्टी का अध्यक्ष बनाकर आपके सामने खड़ा किया है. यही भाजपा की पहचान है.

-अमित शाह, राष्ट्रीय अध्यक्ष, भारतीय जनता पार्टी.