अनंत चतुर्दशी दिन महिलाएं सौभाग्य रक्षा एवं सुख और ऐश्वर्य की प्राप्ति के लिए व्रत एवं उपवास करती हैं। व्रती महिलाओं को अनंत चतुर्दशी के दिन प्रातः काल व्रत एवं उपवास का संकल्प करना चाहिए। इस दिन उन्हें भगवान विष्णु की पूजा करनी चाहिए। भगवान विष्णु के समक्ष 14 गांठ वाला अनंत सूत्र धागा जो कि बाजार में आसानी से मिल जाता है। देश भर में लोग अपनी श्रद्धा के अनुसार अनंत सूत्र चांदी व सोने का भी बनवाते हैं।

इस प्रकार करें पूजा

इस दिन भगवान विष्णु के साथ ही साथ आनंद देव भगवान को श्रद्धा पूर्वक अनंता सूत्र में रखकर के पूजन करना चाहिए। पूजन में रोली, चंदन, धूप और दीप आदि का प्रयोग करें और उसे भगवान को समर्पित करें। ध्यान रहे पूजन के समय इस मंत्र का जाप अवश्य करें, 'समय ॐ अनंताय नमः'। आनंद को धारण करते समय देवता का ध्यान करते रहना चाहिए।

इस हफ्ते मंगलवार को पड़ रहा है बुढ़वा मंगल, सप्ताह में पड़ रहे ये व्रत-त्योहार

पूजन के बाद अनंत देव की कथा सुनें

पूजन के पश्चात अनंत देव की कथा सुननी चाहिए। पुरुष वर्ग को दाएं हाथ में और महिला वर्ग को बाएं हाथ में इस अनंत सूत्र को बांध लेना चाहिए। तत्पश्चात ब्राह्मणों को दान करके या भोजन कराकर के स्वयं भोजन ग्रहण करें। इस दिन नमक रहित भोजन करना चाहिए। इसे अलोना भोजन के नाम से भी जाना जाता है।

-पंडित दीपक पांडेय

Posted By: Vandana Sharma