कानपुर। कनाडा सरकार में मंत्री बनने वाली पहली हिंदू अनीता आनंद को पब्लिक सर्विस एंड प्रोक्योरमेंट विभाग मिला है। उन्होंने अक्टूबर में हुए चुनावों में जीत दर्ज कर पहली बार हाउस ऑफ कॉमंस में प्रवेश किया था। उन्होंने कनाडा के ओंटारियों राज्य की ओकविले सीट से चुनाव जीता, इससे वह कनाडाई संसद के लिए चनी जाने वाली पहली हिंदू महिला बन गईं।

टोरंटो यूनिवर्सिटी में कानून की प्रोफेसर हैं आनंद

हिंदुस्तान टाइम्स की एक रिपोर्ट के मुताबिक टोरंटो यूनिवर्सिटी में कानून की प्रोफेसर, आनंद का जन्म नोवा स्कोटिया प्रांत के केंटविले शहर में हुआ था। उनके माता-पिता, दोनों ही पेशे से चिकित्सक व भारतीय हैं। उनकी दिवंगत मां सरोज राम पंजाब के अमृतसर क्षेत्र से थीं और उनके पिता एसवी आनंद तमिल हैं। चार बच्चों की मां, आनंद ओकविले क्षेत्र में इंडो-कैनेडियन समुदाय से भी निकटता से जुड़ी हुई हैं और वह कनाडाई संग्रहालय ऑफ़ हिंदू सिविलाइज़ेशन की पहली चेयरपर्सन भी थीं। उन्होंने एयर इंडिया फ़्लाइट 182 के आतंकवादी बम विस्फोट की जाँच में जाँच आयोग के लिए शोध भी किया।

भारतीय मूल के चार मंत्री

आनंद नई ट्रूडो सरकार के लिए कैबिनेट में शामिल सात नए लोगों में से एक हैं। 2015 की ही तरह जब उन्होंने अपना पहला मंत्रिमंडल बनाया था, इस बार भी  आधे पदों पर महिलाएं हैं। कैबिनेट में भारतीय मूल के अन्य मंत्रियों में वाटरलू से फिर चुनाव जीतने वाले बर्दिश चग्गर युवा मामलों के मंत्री बनाए गए हैं। हरजीत सज्जन रक्षा मंत्री बने रहेंगे, जबकि नवदीप बैंस साइंस एंड इंडस्ट्री का जिम्मा संभालेंगे। 2015 में सरकार में शामिल भारतीय मूल के चौथे मंत्री अमरजीत सोही को चुनावी हार के चलते इस बार मंत्रिमंडल में जगह नहीं मिली है।

Posted By: Vandana Sharma

International News inextlive from World News Desk