क्त्रड्डठ्ठष्द्धद्ब : माहेश्वरी सभा की ओर से से चलाए जा रहे अन्नपूर्णा सेवा के एक साल पूरे हो गए. इसकी पहली वर्षगांठ पर गुरुवार को अपर बाजार स्थित माहेश्वरी भवन में आयोजित कार्यक्रम में नव निर्वाचित विधायक सीपी सिंह, मेयर आशा लकड़ा, डिप्टी मेयर संजीव विजयवर्गीय एफजेसीसी एवं अध्यक्ष राजकुमार मारू, सचिव मुकेश काबरा, और समाज से जुड़े शामिल हुए.

पांच सौ लोग करते हैं भोजन

मंहगाई के इस दौर में अन्नपूर्णा सेवा के तहत गरीबों को मात्र दस रुपए में शुद्ध और ताजा भोजन उपलब्ध कराया जाता है. इस प्लेट में छह रोटी, सब्जी एवं आचार परोसा जाता है. माहेश्वरी सभा के प्रेस प्रवक्ता संगीता चितलांगिया ने बताया कि अन्नपूर्णा सेवा के तहत रोजाना लगभग पांच सौ लोग भोजन करते हैं. गरीबों को कम पैसे में भोजन उपलब्ध कराने के उद्देश्य से इस सेवा को शुरू किया गया है, जो अपने आप में अनोखा है. इस सेवा के तहत माहेश्वरी सभा के सदस्य समय निकालकर काम में हाथ जुटाते हैं.

असम घटना के विरोध में फूंका पुतला

असम में बोड़ो उग्रवादियों द्वारा 52 निर्दोष आदिवासियों की नृशंस हत्या के विरोध में गुरुवार को भाजपा के बैनर तले सदभावना मार्च निकाला गया, जिसमें सीएम पद के दावेदार भाजपा नेता रघुवर दास, प्रदेश पार्टी अध्यक्ष रवींद्र राय, एमएलए सीपी सिंह सहित कई नेता और कार्यकर्ता शामिल हुए. इधर, रांची फैंस क्लब ने भी विरोध प्रदर्शन किया. फिरायालाल चौक पर असम सरकार की बर्खास्तगी की मांग करते हुए मुख्यमंत्री तरूण गोगोई का पुतला फूंका गया. क्लब के लोगों ने दो मिनट का मौन रख मृतकों की आत्मा की शांति की कामना की. रांची फैंस क्लब एवं चडरी सरना समिति की ओर से प्रधानमंत्री से मांग की गई कि असम में कानून व्यवस्था सुचारू रूप से व्यवस्थित की जाए. इस मौके पर क्लब के अध्यक्ष मुनचुन राय, बबलू मुंडा, राहुल शर्मा, देवाशिष गायेन और अन्य शामिल हुए.

केंद्रीय सरना समिति ने की निंदा

केंद्रीय सरना समिति की ओर से गुरुवार को बिरसा समाधि स्थल पर असम में हुई निर्दोष आदिवासियों की हत्या पर दुख प्रकट किया और घटना की कड़ी निंदा की. समिति के लोगों की ओर से असम सरकार को बर्खास्त कर राष्ट्रपति शासन लगाए जाने और लोगों की सुरक्षा की मांग की गई.