क्त्रन्हृष्ट॥ढ्ढ: बॉलीवुड अभिनेत्री अमीषा पटेल की मुश्किलें बढ़ने वाली हैं. धोखाधड़ी एवं तीन करोड़ रुपये के चेक बाउंस मामले में रांची के न्यायिक दंडाधिकारी कुमार विपुल की अदालत ने शनिवार को अमीषा पटेल एवं उनके बिजनेस पार्टनर कुणाल गुमर के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी किया. अदालत ने मई महीने में इस मामले में संज्ञान लेते हुए अमीषा के खिलाफ समन जारी किया था और उन्हें अपना पक्ष रखने के लिए कहा गया था. लेकिन, चार तारीखों में भी उन्होंने इस मामले में अपना पक्ष नहीं रखा. इसके बाद गिरफ्तारी वारंट जारी किया गया है.

क्या है मामला

दरअसल, डिजिटल इंडिया के तहत 2017 में हरमू हाउसिंग कॉलोनी में एक कार्यक्रम का आयोजन हुआ था. इसमें अमीषा पटेल मुख्य अतिथि एवं अजय सिंह अतिथि के रूप में मंच पर एक साथ बैठे थे. इसी दौरान अजय सिंह की अमीषा से मुलाकात हुई और फिल्मों में पैसे लगाने का ऑफर मिला था. इसके बाद डेढ़ महीने में उन्होंने ढाई करोड़ रुपये अमीषा पटेल के खाते में ट्रांसफर किए थे. अजय सिंह लवली व‌र्ल्ड इंटरटेनमेंट के प्रोपराइटर हैं. इस मामले में उनकी ओर से अदालत में अपनी गवाही भी दर्ज कराई गई है.

क्या है आरोप

अमीषा पटेल पर फिल्म 'देशी मैजिक' बनाने के नाम पर हरमू निवासी अजय सिंह से ढाई करोड़ रुपये लेने का आरोप है. एकरारनामा के अनुसार, जब फिल्म जून 2018 में रिलीज नहीं हुई, तो अजय ने पैसे की मांग की. टालमटोल के बाद अक्टूबर 2018 में ढाई करोड़ एवं 50 लाख रुपये के दो चेक दिए गए, जो बाउंस हो गए. इसके बाद अजय सिंह ने 17 नवंबर 2018 को निचली अदालत में मुकदमा दर्ज कराया था.