कानपुर। चौथे आर्म्ड फोर्सेज वेटेरेंस डे के मौके पर मंगलवार को होम मिनिस्टर राजनाथ सिंह, चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ बिपिन रावत और इंडियन आर्मी चीफ मनोज मुकुंद नरवाने जयपुर पहुंचे हैं। इस दाैरान आयोजित एक कार्यक्रम को मनोज मुकुंद नरवाने ने भी संबोधित किया। न्यूज एजेंसी एएनआई के ट्वीट के मुताबिक इंडियन आर्मी चीफ एमएम नरावने ने कहा है कि इंडियन आर्मी चीफ मनोज मुकुंद नरवाने ने कहा आर्मी ने 1965 और 1971 में युद्ध लड़ने वाले पूर्व सैनिकों को फ्रीडम फाइटर्स की पेंशन देने का प्रस्‍ताव रखा है। इसके अलावा जल्द ही सैन्य पुलिस में महिलाओं की भर्ती किया जाएगा। इसके तहत कुल 1700 महिलाओं को सेना में भर्ती होने का मौका दिया जाएगा। इसके अलावा 101 महिलाओं की ट्रेनिंग 06 जनवरी, 2020 से शुरू की जा चुकी है।


दिग्गजों का कल्याण हमेशा हमारी प्राथमिकता
मनोज मुकुंद नरवाने ने अपने संबोधन में यह भी कहा कि सेवानिवृत्ति के बाद भी पूर्व सैनिक अलग-अलग क्षेत्रों में राष्ट्र निर्माण में लगे रहते हैं। उनके अंदर देश सेवा का जज्बा ताउम्र बरकार रहता है। दिग्गजों का कल्याण हमेशा हमारी प्राथमिकता है। उन्होंने इसका उदाहरण देते हुए कहा कि पिछले साल, हमने 240 अधिकारियों और 11,500 जेसीओ को सेवानिवृत्ति के बाद नौकरी पाने में मदद की। वहीं इसके पहले बीते शनिवार को आर्मी चीफ ने पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) को लेकर एक बड़ा बयान दिया था।

पूरा जम्मू-कश्मीर क्षेत्र भारत का एक हिस्सा

सेना प्रमुख जनरल ने दिल्ली में एक कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए कहा था कि अगर भारतीय सेना को आदेश मिलता है तो वह पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर को फिर से हासिल करने के लिए उचित कार्रवाई करेगा। एक संसदीय प्रस्ताव में कहा गया है कि पूरा जम्मू-कश्मीर क्षेत्र भारत का एक हिस्सा है। यदि संसद चाहती है तो वह पीओके भी हमारा होना चाहिए। ट्विटर पर पाकिस्‍तान के कब्‍जे वाले कश्‍मीर पर आर्मी चीफ के बयान के बाद लोगों ने पूर्ण समर्थन दिया था।बयान के बाद ट्विटर पर ArmyChief ट्रेंड हुआ था।

Posted By: Shweta Mishra

National News inextlive from India News Desk