-करेली अस्करी मार्केट में हुई हत्या, आरोपी नावेद को पुलिस ने किया गिरफ्तार

-पुलिस की तफ्तीश में अदनान की लाइसेंसी पिस्टल से हुई हत्या, दबिश जारी

allahabad@inext.co.in

ALLAHABAD: करेली के अस्करी मार्केट में मंगलवार को प्रॉपर्टी डीलर कामरान अहमद की गोली मारकर हत्या करने वाले मुख्य आरोपी नावेद इब्राहीम पुत्र जावेद इब्राहीम को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. हालांकि पुलिस को उसके पास से हत्या में प्रयुक्त असलहा बरामद नहीं कर पाई है. वहीं पकड़े गए अभियुक्त का कहना है कि गोली उसने नहीं बल्कि उसके दोस्त अदनान ने अपनी पिस्टल से मारी है. हालाकि पुलिस उसके साथी की तलाश कर रही है. वह फरार है. पुलिस को उसकी लोकेशन नहीं मिल पा रही है. बता दें कि 27 फरवरी को कामरान उस वक्त गोली मार गई थी जब वह नावेद के बुलाने पर अस्करी मार्केट आया था. तभी कहासुनी के बाद उसने गोली दी और फरार हो गया.

मैंने पैसा दे दिया था

उधर पुलिस की गिरफ्त में आने के बाद नावेद इब्राहिम का कहना है कि उसने कामरान से दो लाख रुपए उधार लिए थे. उसने उस रकम कुछ दिन पहले ही वापस कर दी थी. लेकिन पुलिस का मानना है कि नावेद झूठ बोल रहा है. अगर उसने पैसा वापस कर दिया होता तो ये नौबत नहीं आती. फिलहाल नावेद और कामरान का बैंक खाता चेक किया गया लेकिन उसमें ऐसा कुछ साक्ष्य नहीं दिखा, जिससे यह साबित हो सके कि नावेद ने कामरान से लिया पैसा वापस कर दिया हो, पुलिस का कहना है कि वह झूठ बोल रहा है.

पिस्टल अदनान की मां के नाम

करेली के करामत की चौकी के पास रहने वाला नावेद इब्राहीम पुत्र जावेद इब्राहीम ने कुछ साल पहले ही नैनी स्थित शुआट्स से डेरी इंजीनियरिंग की पढ़ाई पूरी की थी. इसके बाद वह प्रॉपर्टी डीलर के काम में उतर गया. पुलिस की पूछताछ में नावेद ने खुलासा करते हुए बताया कि जिस पिस्टल से कामरान की हत्या की गई. वह उसकी नहीं बल्कि उसके दोस्त अदनान की है. पुलिस को जांच में पता चला है कि जिस पिस्टल से हत्या की गई. हालाकि वह अदनान की भी नहीं थी. वह पिस्टल अदनान के मां के नाम थी. मगर वह अपने पास रखता था. इसके अलावा उसके मां के नाम एक राइफल भी है. नावेद ने यह भी बताया कि घटना वाले दिन कामरान अपने छह साथियों के साथ आया था. जबकि वहीं उसके साथ सात साथी थे. पुलिस अदनान की गिरफ्तारी के लिए लगातार दबिश दे रही है. लेकिन उसका कुछ पता नहीं चल पा रहा है.