नई दिल्ली (एएनआई)। पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली का अंतिम संस्कार उनके बेटे रोहन जेटली ने किया। इस दाैरान श्मशान घाट पर उनके परिवार के कई सदस्य भी मौजूद थे। दिवंगत नेता के बेटे द्वारा अंतिम संस्कार के दाैरान मुखाग्नि के समय बारिश होने लगी। दिवंगत भाजपा नेता के अंतिम संस्कार में कई राजनेताओं ने भाग लिया।


अपने दोस्त अरुण जेटली को अंतिम विदाई दी

उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने अश्रुपूरित नयनों से अपने दोस्त अरुण जेटली को अंतिम विदाई दी। इस दाैरान लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, गृह मंत्री अमित शाह, भाजपा के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा, रमेश पोखरियाल, स्मृति ईरानी, ​​रामदास अठावले, हंस राज हंस, गौतम गंभीर, अनुराग ठाकुर और कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल समेत अन्य कई नेता माैजूद रहे।

 


कई अन्य हस्तियां भी श्मशान घाट पर मौजूद थीं
महाराष्ट्र के सीएम देवेंद्र फडणवीस, कर्नाटक सीएम बी एस येदियुरप्पा, त्रिवेंद्र सिंह रावत और पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान सहित भाजपा के कई मुख्यमंत्री अरुण जेटली के अंतिम संस्कार में निगमबोध घाट पर पहुंचे थे। मंत्री रामविलास पासवान और बाबा रामदेव समेत कई अन्य हस्तियां भी श्मशान घाट पर मौजूद थीं।

 

अरुण जेटली का कानपुर से रहा खास कनेक्शन, कानपुराइट्स की खूब सुनी
घाट पर नेताओं ने जेटली को पुष्पांजलि अर्पित की
अंतिम संस्कार प्रक्रिया शुरू होने से पहले घाट पर नेताओं ने अरुण जेटली को पुष्पांजलि अर्पित की। वहीं अरुण जेटली की अंतिम यात्रा से पहले श्रद्धांजलि देने के लिए उनके पार्थिव शरीर को भाजपा मुख्यालय में रखा गया था।  अरुण जेटली का शनिवार को नई दिल्ली में अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS) में निधन हो गया था।
अरुण जेटली के अंतिम दर्शन के लिए लोग बेताब, निगमबोध घाट पर होगा अंतिम संस्कार

 

National News inextlive from India News Desk