- डीएम ने सीएमओ को आयर गांव के सभी बच्चों के एनआरसी सेंटर में एडमिट कराने का दिया निर्देश

हरहुआ ब्लॉक स्थित आयर गांव में कुपोषण के मामले पर डीएम सुरेन्द्र सिंह ने गंभीरता दिखाई है. उन्होंने सीएमओ डॉ. वीबी सिंह को गांव के सभी अतिकुपोषित बच्चों को डिस्ट्रक्ट हॉस्पिटल के एनआरसी सेंटर में एडमिट कराने निर्देश दिया है. जिसके बाद सीएमओ ने राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम की टीम को आयर गांव में रवाना किया. वहां पहुंची टीम के सदस्यों ने अति कुपोषित ढाई साल के आकाश को एनआरसी सेंटर में एडमिट करवाया. यहां उसके पेट का ऑपरेशन प्राइवेट सर्जन से कराया गया. इसके साथ ही टीम ने डेढ़ साल की अन्य एक बच्ची उसकी सात वर्षीय बहन को भी एडमिट कराया.

18 बच्चे हैं कुपोषित

बता दें इस आयर गांव तत्कालीन डीएम विजय किरण आनंद ने गोद लिया था. यहां कुल 18 बच्चे कुपोषण का शिकार है. लेकिन इन बच्चों के परिजन आर्थिक समस्या की वजह से इन्हे एनआरसी सेंटर एडमिट नहीं करा रहे थे. इस खबर को दैनिक जागरण आई नेक्स्ट ने बुधवार को प्रमुखता से प्रकाशित किया था. जिसके बाद डीएम ने मामले पर गंभीरता दिखाते हुए किसी भी हाल में गांव के सभी कुपोषित बच्चों को सेंटर में एडमिट कराने का फरमान जारी किया.

3 बच्चों का चल रहा इलाज

राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम के नोडल ऑफिसर डॉ. अब्दुल जावेद ने बताया कि गांव के मुसहर बस्ती में सबसे ज्यादा कुपोषित बच्चे हैं कोई भी अभिभावक बच्चों को सेंटर में भेजना नहीं चाहता. इसलिए सीएमओ ने पुलिस की मदद लेकर तीन बच्चों को सेंटर में भेजा है. इसमे एक बच्ची की उम्र सात साल है, इसलिए उसका इलाज सेंटर से बाहर हॉस्पिटल के वार्ड में कराया जा रहा है. जल्द ही अन्य बच्चों को भी एडमिट कराया जाएगा.