लंदन (आइएएनएस)। क्रिकेट में गेंद से छेड़छाड़ का मुद्दा इस खेल की प्रतिष्ठा को कई बार तार-तार कर चुका है। इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के बीच खेली जा रही एशेज सीरीज के दौरान एक बार फिर गेंद से छेड़छाड़ का विवाद सुर्खियों में आ गया है। इस बार इंग्लैंड के पूर्व कप्तान और दिग्गज बल्लेबाज एलिस्टर कुक ने अपनी आत्मकथा में इसे लेकर चौंकाने वाले रहस्योद्घाटन किए हैं। उन्होंने गेंद से छेड़छाड़ को लेकर ऑस्ट्रेलियाई ओपनर और धाकड़ बल्लेबाज डेविड वार्नर पर निशाना साधा है और साथ ही किसी भी कीमत पर जीत दर्ज करने की मानसिकता को लेकर ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट को भी घेरा है।

मैटेरियल के जरिये गेंद से छेड़छाड़

मैदान पर ऑस्ट्रेलियाई खिलाडि़यों के व्यवहार से कोई सबसे ज्यादा रूबरू होता है तो वो इंग्लैंड के खिलाड़ी हैं। ऐसा इन दोनों टीमों के बीच बेहद लंबे समय से चल रही प्रतिद्वंद्विता के चलते है। यही वजह है कि सात एशेज सीरीज का हिस्सा रहे इंग्लैंड के पूर्व कप्तान कुक ने ऑस्ट्रेलियाई खिलाडि़यों और टीम को लेकर कई चौंकाने वाली बातें अपनी आत्मकथा में लिखी हैं। कुक ने लिखा है कि वार्नर ने बताया था कि उन्होंने एक प्रथम श्रेणी मैच में कैसे गेंद से छेड़छाड़ की थी। कुक के अनुसार वार्नर ने मुझे बताया कि कैसे एक प्रथम श्रेणी मैच में उन्होंने हाथ में बंधे टेप पर लगे मैटेरियल के जरिये गेंद से छेड़छाड़ की थी। उस समय अगर स्टीव स्मिथ दखलअंदाजी नहीं करते तो शायद वार्नर इससे जुड़े और राज भी उगल देते।

Lala Amarnath Birthday : वो भारतीय कप्तान जिसने पाक खिलाड़ियों को मिला लिया अपनी टीम में

स्मिथ न टोकते तो वार्नर और बताते राज

कुक ने बताया कि यह वाकया 2017-2018 की एशेज सीरीज के बाद हुई एक पार्टी के दौरान का है। जैसे ही वार्नर ने इस बात का खुलासा किया, मैंने स्टीव स्मिथ की ओर देखा। उनके चेहरे का भाव ऐसा था मानो वार्नर से कह रहे हों कि तुम्हें यह बात नहीं बतानी चाहिए थी।कुक ने आत्मकथा में लिखा है कि ऑस्ट्रेलियाई टीम किसी भी कीमत पर जीत दर्ज करने के इरादे से मैदान पर उतरती है। चाहे इसके लिए उन्हें कुछ भी करना पड़े। हालांकि कुक ने सीधे तौर पर बेईमानी शब्द का इस्तेमाल नहीं किया, लेकिन संकेतों पर साफ कर दिया कि ऑस्ट्रेलियाई टीम जीत के लिए कुछ भी कर सकती है।कुक के अनुसार, ऑस्ट्रेलियाई के लोग अपनी टीम के हर हाल पर जीत दर्ज करने के तौर-तरीकों से संतुष्ट नहीं हैं मगर ऑस्ट्रेलियाई टीम इस मामले में बहुत दूर तक निकल गई है। हालांकि गेंद से छेड़छाड़ विवाद के बाद से ऑस्ट्रेलियाई टीम प्रशंसकों का दिल जीतने की कोशिश में लगी है। टीम के कोच जस्टिन लैंगर ने ड्रेसिंग रूम की संस्कृति बदल दी है और यही वजह है कि ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी मैदान पर अधिक विनम्र नजर आ रहे हैं।

साउथ अफ्रीकी कोच बने अमोल मजूमदार ने रवि शास्त्री की कप्तानी में खेला था मैच

Posted By: Abhishek Kumar Tiwari

Cricket News inextlive from Cricket News Desk