कानपुर। एक इत्तेफाक के चलते एक्टर बने अशोक कुमार ने पहली ही फिल्म में साबित कर दिया था कि वे कितने टैलेंटेड एक्टर हैं। वे भले ही अपने छोटे भाई किशोर कुमार की तरह बतौर सिंगर नहीं जाने जाते पर उनके गाये हुए कई खासे हिट रहे हैं। मैं बन के कोयलिया वन वन डोलूं और रेलगाड़ी ऐसे ही गानों में शामिल हैं। उनमें एक और टैलेंट भी था जिसका फिल्मों से कोई लेना देना नहीं था। &

होम्योपैथी के डॉक्टर

सदी महानायक अमिताभ बच्चन की मानें तो अशोक कुमार जिन्हें लोग दादा मुनि भी कहते थे एक बेहतरीन होम्योपैथी के डॉक्टर थे। फिल्म फेयर पत्रिका से अपने दौर के उम्दा कलाकारों के बारे में बात करते हुए बिग बी ने एक बार कहा था कि वे अच्छे डॉक्टर थे और अपने कई कलीग्स का सटीक इलाज करते रहे थे।

ashok kumar death anniversary: होम्योपैथी का डॉक्टर भी था ये अभिनेता

मनोरंजक शख्स

अमिताभ ने ये भी बताया कि वे एक जिंदादिल इंसान थे और उनके साथ रहने वाले हमेशा खुश रहते थे। सेट्स पर उनके साथ कई बार समय बिताने का मौका पाने वाले बिग बी के मुताबिक अशोक कुमार माहौल को हल्का फुल्का रखते थे और आसपास ठहाकों की आवाज गूंजती रहती थी।

Posted By: Molly Seth

Bollywood News inextlive from Bollywood News Desk