गुवाहाटी (असम) (एएनआई)।देश के पूर्वोत्तर के राज्यों में नागरिकता (संशोधन) एक्ट का जमकर विरोध हो रहा है। राज्य में नागरिकता (संशोधन) एक्ट, 2019 के खिलाफ विरोध प्रदर्शनों में अब तक तीन लोगों की मौत हो गई है, जबकि 27 लोगों को चोटें आई हैं। सरकार द्वारा संचालित गुवाहाटी मेडिकल कॉलेज अस्पताल द्वारा यह जानकारी दी गई जहां पर घायलों को उपचार दिया गया।

तोड़फोड के साथ कई जगहों पर कर्फ्यू

गृहमंत्री अमित शाह द्वारा पेश किया गया यह विधेयक 9 दिसंबर को लोकसभा और 11 दिसंबर को राज्य सभा से पारित हुआ। संसद में नागरिकता (संशोधन) विधेयक 2019 के पारित होने के बाद असम और उत्तर-पूर्व के कई हिस्सों में विरोध प्रदर्शन शुरू हो गया था। लोग सड़कों पर निकल आए। जगह-जगह तोड़फोड और कर्फ्यू भी लगाया गया। असम त्रिपुरा में सेना की तैनाती है।

भारतीय नागरिकता देने का प्रयास हो रहा

12 दिसंबर को राष्ट्रपति के आश्वासन के बाद यह एक अधिनियम बन गया। इस एक्ट के जरिए पाकिस्तान, अफगानिस्तान और बांग्लादेश से धार्मिक उत्पीड़न से भागकर हिंदू, ईसाई, सिख, बौद्ध और पारसी समुदायों के शरणार्थियों को भारतीय नागरिकता देने का प्रयास हो रहा है। इसमें जो लोग 31 दिसंबर, 2014 को या उससे पहले भारत में प्रवेश कर चुके हैं उन्हें नागरिकता दी जाए

Posted By: Shweta Mishra

National News inextlive from India News Desk