इलाहाबाद यूनिवर्सिटी में इस साल हास्टल में रेड पर लग सकता है ब्रे्रक

लगातार आ रहे हैं वीवीआईपी, 14-15 को होगा पहला शाही स्नान

prayagraj@inext.co.in

PRAYAGRAJ: ऐसे समय जब विश्व का सबसे बड़ा कुंभ मेला सिर पर है तब इलाहाबाद यूनिवर्सिटी एडमिनिस्ट्रेशनहास्टल्स में रेड की डिमांड कर रहा है. यूनिवर्सिटी के चीफ प्रॉक्टर प्रो. राम सेवक दुबे और डीएसडब्ल्यू प्रो. हर्ष कुमार ने डीएम और एसएसपी को पत्र लिखकर पर्याप्त पुलिस बल उपलब्ध करवाने की अपील की है. जिससे सभी हास्टल्स के लिए बनाए गए रेड के प्लान को अमली जामा पहनाया जा सके. चीफ प्रॉक्टर और डीएसडब्ल्यू की ओर से इसके लिए रिमाइंडर भी भेजा गया है.

मेले के चलते बिजी हैं अफसर

साल 2018 का समापन होने वाला है. दिसम्बर माह में रेड के लिए पुलिस बल नहीं मिल सका तो जनवरी में भी मिशन आपरेशन क्लीन को शुरू कर पाना लगभग असंभव होगा. क्योंकि कुंभ का पहला शाही स्नान मकर संक्रांति 14-15 जनवरी को पड़ रहा है. इसके ठीक बाद बड़ी संख्या में कल्पवासियों के आने का सिलसिला भी शुरू हो जाता है. मेले की तैयारियों को परखने के लिए वीवीआईपी मूवमेंट इन दिनों तेज है. मेला क्षेत्र में न होकर भी वे मेले का प्रेशर झेल रहे हैं.

कई दिन तक चलता है अभियान

दिसम्बर में भी पुलिस बल मिल जाए. इसकी भी उम्मीद कम ही है. हास्टल्स में रेड की कार्रवाई के दौरान कोई अनहोनी न हो इसके लिए पुलिस और प्रशासन के अफसर भी मौजूद रहते हैं. चूंकि, हास्टल में रेड की कार्रवाई कई दिनो तक चलती है. ऐसे में जिला प्रशासन द्वारा इसकी अनुमति इसलिए भी देना मुश्किल लग रहा है. भारी व्यवस्तता और परिस्थितियों के मद्देनजर इस साल रेड के प्लान पर ब्रेक लगना तय माना जा रहा है.

हास्टल्स में आवंटन का कार्य हो चुका है. लेकिन अराजकतत्वों के कब्जे के चलते नवप्रवेशी छात्र-छात्राओं को कमरे में जगह नहीं मिल पा रही है. हमने रेड के लिए डीएम-एसएसपी को रिमाइंडर भेजा दिया है.

प्रो. आरएस दुबे,

चीफ प्रॉक्टर एयू