हनोई (पीटीआई)। भारत के राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद इन दिनों वियतनाम के दौरे पर हैं। सोमवार को उन्होंने द्विपक्षीय संबंधों को बढ़ावा देने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने के लिए वियतनाम में भारतीय समुदाय की सराहना की और उन्हें भारत के साथ जुड़ने, सहयोग करने और आगे बढ़ने के नए अवसरों का लाभ उठाने के लिए कहा। राष्ट्रपति ने भारतीय समुदाय को संबोधित करते हुए कहा, 'मैं आपको बदलाव की इस यात्रा में एक जानकर भागीदार, निवेशक और सांस्कृतिक राजदूतों के रूप में शामिल होने के लिए प्रोत्साहित करता हूं।' इसके साथ राष्ट्रपति ने सभी भारतीयों से आग्रह किया कि वे वाराणसी में 21-23 जनवरी तक चलने वाले प्रवासी भारतीय दिवस को जरूर अटेंड करें।

बौद्ध संघ की भी तारीफ
राष्ट्रपति कोविंद ने भारत-वियतनाम की दोस्ती की भी सराहना की और कहा, 'कठिन समय के दौरान हम लोग एक दूसरे के साथ हमेशा खड़े रहे और रहेंगे। हमारे संस्थापक पिता- महात्मा गांधी और राष्ट्रपति हो ची मिन्ह ने हमारा मार्ग दर्शन किया है।' राष्ट्रपति ने दोनों देशों के बीच दोस्ती को बढ़ावा देने के लिए बौद्ध संघ की प्रशंसा की और कहा कि उनके माध्यम से हमने भगवान बुद्ध की करुणा, दया और आशीर्वाद के साथ अपने संबंधों को पोषित किया है। बौद्ध भिक्षु प्राचीन काल में हमारे संबंधों को बढ़ावा देने में सक्रिय थे और आज भी हैं। उन्होंने बताया कि सितंबर 2016 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की वियतनाम यात्रा के दौरान, दोनों देशों ने अपने द्विपक्षीय संबंधों को व्यापक सामरिक साझेदारी में बदलने का फैसला किया था। राष्ट्रपति ने कहा कि मुझे यह जानकर खुशी हो रही है कि आज, भारत वियतनाम के बड़े व्यापारिक भागीदारों में से एक है और हमने अपने द्विपक्षीय व्यापार और निवेश संबंधों में एक बड़ी बढ़त देखी है।

राष्ट्रपति ने चार लोगों को राज्यसभा के लिए किया नाॅमिनेट, जानें उनके नाम आैर काम

65th National Film Awards: तो इसलिए सिर्फ 11 लोगों को राष्ट्रपति देंगे राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार

International News inextlive from World News Desk