दिन के 11 बजे फैसला आने के बाद डीसी राय महिमापत रे, एसएसपी अनीश गुप्ता सुरक्षा का जायजा लेने के लिए सड़कों पर निकले। अल्बर्ट एक्का पहुंच कर एसएसपी ने सुरक्षा में तैनात पदाधिकारी और जवानों को दिशा निर्देश दिया। अल्बर्ट एक्का चौक से डीसी और एसएसपी का काफिला सुजाता चौक की ओर निकला। वहीं, इससे पूर्व एसडीओ लोकेश मिश्रा के नेतृत्व में पूरे राजधानी में फ्लैग मार्च किया जा रहा है। पुलिस टीम ने अल्बर्ट एक्का चौक से फ्लैग मार्च शुरू किया और सुजाता होते हुए डोरंडा हिनू बिरसा चौक, अरगोड़ा, कडरू ओवर ब्रिज होते हुए फ्लैग मार्च वापस अल्बर्ट एक्का चौक पहुंचा। एसएसपी अनीश गुप्ता खुद पूरी सुरक्षा के मॉनिटरिंग करते रहे। शनिवार सुबह से ही एसएसपी सिटी कंट्रोल रूम में बैठकर राजधानी की सुरक्षा पर निगरानी रखे रहे थे।

--

एसडीओ समेत सभी डीएसपी तैनात

बाइक दस्ता में एसडीओ लोकेश मिश्रा, सदर डीएसपी दीपक पांडेय, सिटी डीएसपी अमित सिंह और कोतवाली डीएसपी अजित कुमार विमल, डेली मार्केट इंस्पेक्टर पुलिस बल के साथ स्वयं पूरे शहरी क्षेत्र में देर रात तक भ्रमण करते रहे। इस दौरान सभी थानों के थानेदार और पेट्रोलिंग पार्टियां मुस्तैद रहीं।

पटाखा, शराब समेत कई दुकानें बंद

फैसला आने के तुरंत बाद डीसी और एसएसपी के आदेश पर शहर की सभी पटाखा दुकानें, शराब दुकान, बार आदि बंद कर दिए गए। इन्हें सोमवार की सुबह तक दुकान नहीं खोलने के निर्देश दिया गया है। डीसी राय महिमापत रे ने सभी संवेदनशील इलाकों की जानकारी ली और वहां सुरक्षा व्यवस्था मुस्तैद करने के निर्देश दिए।

इन पर रहेगी पाबंदी

- ऐसा कोई भी काम, जिससे धार्मिक उन्माद फैले।

- कोई भी व्यक्ति अफवाह नहीं फैलायेगा।

- सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक संदेश शेयर करने या टिप्पणी करने पर भी पाबंदी होगी।

- सोशल मीडिया के माध्यम से धार्मिक शौहा‌र्द्र बिगाड़ने का प्रयास या किसी धर्म के संबंध में आपत्तिजनक टिप्पणी वर्जित रहेगी।

- कोई भी व्यक्ति, दल या संगठन बिना अनुमति के किसी प्रकार का प्रदर्शन, चक्का जाम, सभा जुलूस नहीं आयोजित करेंगे।

- किसी सार्वजनिक क्षेत्र पर पांच से छह लोग एकत्रित नहीं हो सकेंगे।

- इसके साथ ही इस दौरान किसी तरह का पर्चा नहीं बांटा जा सकता है।

वर्जन

सर्वोच्च न्यायालय के फैसले के बाद लोग शांति व्यवस्था बनाए रखें। लोकतंत्र में किसी भी तरह से कानून से खिलवाड़ करने की छूट नहीं मिलेगी। धारा 144 लागू है, उसका पालन करें।

राय महिमापत रे, रांची डीसी

काफी सालों से लंबित विवाद का निपटारा हुआ है। न्यायालय का सम्मान और कानून के दायरे में रहकर ही किसी भी तरह की एक्टिविटी करें। शहर में 144 लागू है, इसलिए सतर्क रहें और सुरक्षित रहें।

अनीश गुप्ता, एसएसपी रांची

Posted By: Inextlive

inext-banner
inext-banner