कानपुर। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के तहत एक समारोह में भाग लिया। इस दौरान तिरपाल में बैठे रामलला को मंदिर परिसर के निकट एक अस्थायी जगह पर विराजमान किया गया। सीएम योगी खुद रामलला को गोदी में उठाकर लाए और पूरी प्रक्रिया में भाग लिया। नौ दिवसीय नवरात्रि उत्सव के पहले दिन बुधवार को सुबह लगभग 4.30 बजे यह समारोह आयोजित हुआ। इसी के साथ 27 साल से तिरपाल के नीचे बैठे रामलला मंदिर के गर्भगृह से अस्थायी जगह विराजमान किए गए, जिसके चलते मंदिर निर्माण कार्य अब शुरु हो जाएगा।

चांदी के सिंहासन पर विराजे रामलला

इस पूजन समारोह में योगी आदित्यनाथ के अलावा नई दिल्ली, अयोध्या और वाराणसी के कई पुजारियों ने साथ दिया। पुजारियों द्वारा तय किए गए शुभ मुहूर्त पर देवता को मखाने मंदिर से एक पालकी में स्थानांतरित किया गया। मुख्यमंत्री उन चार लोगों में शामिल थे, जिन्होंने इस पालकी को नए स्थान पर पहुंचाया, यह मंदिर से कुछ मीटर की दूरी पर है। यहां रामलला को 10 किलो के एक चांदी के सिंहासन में विराजमान किया गया।

मंदिर के निर्माण हेतु ₹11 लाख का चेक

पूजा की समाप्ति के बाद योगी आदित्यनाथ ने ट्विटर पर कुछ तस्वीरें पोस्ट की। साथ ही उन्होंने लिखा, 'अयोध्या करती है आह्वान...भव्य राम मंदिर के निर्माण का पहला चरण आज सम्पन्न हुआ, मर्यादा पुरुषोत्तम प्रभु श्री राम त्रिपाल से नए आसन पर विराजमान...मानस भवन के पास एक अस्थायी ढांचे में 'रामलला' की मूर्ति को स्थानांतरित किया। भव्य मंदिर के निर्माण हेतु ₹11 लाख का चेक भेंट किया।'

Posted By: Abhishek Kumar Tiwari

National News inextlive from India News Desk