डर के साये में जगा शहर पर नहीं भूला मोहब्बत की तहजीब

-अयोध्या पर फैसले के बाद शहर में रही सामान्य स्थिति

ऐतिहासिक अयोध्या पर फैसला शनिवार को आना है, इसकी जानकारी शहर के लोगों को टीवी चैनलों और सोशल मीडिया के जरिए शुक्रवार की देर रात हो गयी थी. फैसले के बाद के माहौल क्या होगा? इसे लेकर सभी सशंकित रहे. इसके बाद कुछ ने रात में ही घर की जरूरत के सामान जुटाना शुरू कर दिया. सुबह तो सब्जी और राशन की दुकानों पर भीड़ उमड़ पड़ी. व्यापारी भी मौके को भुनाने में जुट गए. कोर्ट का फैसला आने के बाद गंगा-जमुनी तहजीब के इस शहर ने प्यार-मोहब्बत के अपने चीर-परिचित अंदाज को कायम रखा तो सारी शंका दूर हो गयी और लोग भी सामान्य स्थिति में आ गए और फैसला का सम्मान करते हुए तुम्हारी भी जय जय, हमारी भी जय जय के भाव में अपनी सामान्य दिनचर्या में जुट गए.

उमड़ पड़ी भीड़

जब तक शहर को अयोध्या फैसला आने की जानकारी होती तब तक शनिवार को काफी रात हो चुकी थी. ज्यादातर दुकानें बंद हो चुकी थीं. जो खुली थीं वहां तक दुकानों से ब्रेड मक्खन आदि का जुगाड़ा किया. सुबह दुकानें खुलते तो जैसे खरीदारों की भीड़ उमड़ पड़ी. हर कोई घर में जरूरत के सामान भर लेने का आतुर दिखा. सुंदरपुर, चंदुआसट्टी, कमच्छा से लगायत हर छोटी-बड़ी सब्जी मंडि़यों में पहुंचकर लोग आलू-प्याज आदि सब्जी खरीदने लगे. दुकानदार मौके का फायदा उठाने लगे. दाम निर्धारित से अधिक वसूलने लगे तो सब्जी वालों ने बढि़या-घटिया सब खपा दिया.

सब हो गया सामान्य

कोर्ट के फैसले का पूरे शहर ने सम्मान किया. किसी को किसी से शिकवा-शिकायत नहीं रही. दिन चढ़ने के साथ हर कोई अपनी दिनचर्या में लौटे लगा. दुकानें थोड़ी देर से सही लेकिन खुलने लगीं. रोड पर चहल-पहल भी बढ़ने लगी. मिश्रित आबादी वाले इलाकों में हर रोज की तरह भजन-अजान सुनाई देने लगा. इससे लोगों के मन बैठा डर भी खत्म होने लगा. दोपहर तक स्थिति तो बिल्कुल सामान्य हो गयी.

Posted By: Inextlive