- 102 एंबुलेंस सेवा के बेड़े में शामिल हुई 41 बैक-अप एंबुलेंस

- लोगों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधा देना सरकार का प्रण : मंगल

patna@inext.co.in

PATNA :

प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने विगत कुछ वर्षो में स्वास्थ्य क्षेत्र में हुए कार्यो का हवाला देते हुए कहा कि सरकार स्वास्थ्य सेवाओं में गुणवत्तापूर्ण सुधार के लिए लगातार काम कर रही है. लोगों को बेहतर स्वास्थ्य सेवा देना सरकार का प्रण है. स्वास्थ्य मंत्री बुधवार को राज्य स्वास्थ्य समिति प्रांगण में बैक-अप एंबुलेंस सेवा की शुरुआत के मौके पर बोल रहे थे.

मंत्री ने कहा कि राज्य में एंबुलेंस सेवा 102 के बेड़े में अभी 924 एंबुलेंस कार्यरत हैं. किसी एंबुलेंस के ऑफ रोड होने की स्थिति में आमजन को एंबुलेंस की सेवा मिलती रहे, इसके लिए 41 नई बेसिक लाइफ सपोर्ट एंबुलेंस को इस बेड़े में शामिल किया गया है. मंत्री ने कार्यक्रम के दौरान 102 एंबुलेंस सेवा के बेड़े में शामिल एंबुलेंस को जिलों के लिए हरी झंडी दिखाकर रवाना किया. कार्यक्रम में स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव संजय कुमार, स्वास्थ्य समिति के कार्यपालक निदेशक मनोज कुमार, अपर कार्यपालक निदेशक करुणा कुमारी के साथ ही दूसरे कई पदाधिकारी मौजूद रहे.

=======

इन जिलों में बेसिक लाइफ सपोर्ट एंबुलेंस :

बेगूसराय, भागलपुर, दरभंगा, मधुबनी, मुंगेर, समस्तीपुर, सारण, सीतामढ़ी और पश्चिम चंपारण को दो-दो बेसिक लाइफ सपोर्ट बैक-अप एंबुलेंस व शेष जिलों को एक-एक एंबुलेंस की सेवा मुहैया कराई गई है.

--------

इन्हें दी जाती है 102 एंबुलेंस सेवा :

- गर्भवती महिला को अस्पताल लाने-ले जाने के लिए

- बीमार नवजात को शिशु स्वास्थ्य केंद्र तक लाने के लिए

- 60 वर्ष से अधिक आयु के वरिष्ठ नागरिकों को

- दुर्घटनाग्रस्त मरीजों के प्रथम परिवहन के लिए

- राशन कार्डधारी परिवारों को

- कालाजार के रोगियों और एईएस पीडि़त मरीजों को