सीसीटीवी फुटेज में कैद तस्वीर पहचानी जा चुकी है. यह नोन चेहरा है. इसके अलावा भी जिन लोगों का नाम सामने आया है उसमें से दो तो मर्डर जैसे केस में वांटेड हैं. अब पुलिस के लम्बे हाथ इन तक पहुंचें तब पता चले कि यह बदमाश कंपनी किसके इशारों पर चलती है.

बड़े काम आती है सीसीटीवी फुटेज

-Crime branch ने video footage से खोला राज

-मुट्ठीगंज के रहने वाले गौरव ने की थी सर्राफा व्यवसायी के यहां लूट

-धूमनगंज के बदमाशों के साथ मिलकर दिया अंजाम

piyush.kumar@inext.co.in

ALLAHABAD: बदमाश कंपनी का राज खुल गया है. धूमनगंज के रहने वाले बदमाशों ने ही सर्राफा व्यवसायी चन्द्र प्रकाश के यहां दिन दहाड़े लूट की वारदात को अंजाम दिया था. क्राइम ब्रांच को श्री अग्रवाल की शॉप के सामने वाली शॉप के बाहर लगे सीसीटीवी कैमरे की फुटेज से कई सुराग मिले हैं. उस युवक की पहचान भी हो गई है जिसका चेहरा वीडियो क्लिप में दिख रहा है. वह मुट्ठीगंज का रहने वाला गौरव सोनी है. पुलिस का दावा है कि गौरव सोनी ही ज्वैलरी लूट कर भाग रहा है. अब गौरव व उसके साथ लगी बदमाश कंपनी पर भी पुलिस कंसंट्रेट कर चुकी है.

यस, फोटो तो बिल्कुल मिल रही है

चन्द्र प्रकाश के यहां से लूट कर भाग रहे दोनों लड़कों की वीडियो क्लिपिंग लेकर पुलिस बदमाशों की पहचान में जुटी थी. चेहरा पूरा साफ नजर नहीं आ रहा था लेकिन इतना दिख रहा था कि उसके आसपास रहने वाले आसानी से पहचान सकें. पुलिस ने फुटेज की पिक्चर को कंप्यूटर एक्सपर्ट की मदद से और क्लीयर कराया. क्राइम ब्रांच को यकीन था कि भले ही बाहर से आने वाले बदमाशों ने घटना को अंजाम दिया हो, कोई न कोई लोकल बदमाश शामिल जरूर होगा. मुट्ठीगंज और कोतवाली एरिया में रहने वाले बदमाशों से मिलकर पुलिस ने फुटेज से मिली पिक्चर को दिखाया. बदमाश तो कोई सुराग नहीं दे सके लेकिन जुआरियों की नजर अटक गई. उन्होंने बताया कि सर, यह तो गौरव है जो उनके साथ जुआ खेलने आता था.

घर से है बेदखल

अब पुलिस गौरव की तलाश में जुट गई. पुलिस को पता चला गया कि वह मुट्ठीगंज एरिया का रहने वाला है. उसका पूरा नाम गौरव सोनी है. वह कभी ज्वैलरी कारोबार से जुड़ा था. गलत सोहबत के कारण उसका बिजनेस नहीं चला. जुआ खेलने का नशा उस पर चढ़ा तो परिवारवालों का जीना मुश्किल होने लगा. फाइनली परिवार के सदस्यों ने उसे अपनी प्रापर्टी से बेदखल करने का फैसला ले लिया. पुलिस गौरव के घर पहुंची और यह जानकारी मिली तो वह भी चकरा गई. अब पुलिस के लिए गौरव का सुराग लगाना बड़ा चैलेंज बन गया है.

तमंचा से भी मिला क्लू

गौरव के साथ एक लड़का और था. उसके हाथ में देशी तमंचा था. पुलिस को तमंचा देखकर पता लगा कि इसे कहां से मंगाया गया होगा. फिर उस गैंग की तलाश की गई. पुलिस को क्लू मिलता चला गया. इसके आधार पर यह तय हो गया कि इस तरह का तमंचा यूज करने वाले गैंग कौन है. दूसरी ओर पुलिस को सर्विलांस की मदद से ठोस जानकारी मिल गई. जैसा कि आई नेक्स्ट ने पहले ही खुलासा कर दिया था कि धूमनगंज एरिया के रहने वाले बदमाशों की लोकेशन कोतवाली एरिया में मिली थी. फिर पुलिस को वीडियो फुटेज से क्लीयर हो गया कि बदमाश कौन हैं? अब पुलिस को पूरी यकीन हो गया है कि बदमाश कंपनी कौन है जिसने इस सनसनीखेज वारदात को अंजाम दिया.

यंगस्टर है पूरी टीम

पुलिस ने बताया कि इस गैंग में गौरव के साथ गोविन्द पुरवार, उदय यादव और हरिश्चन्द्र शामिल है. इन चारों में से दो पुलिस रिकार्ड में हार्ड कोर क्रिमिनल हैं. सबसे बड़ी बात यह है कि इन चारों की उम्र ख्0 से फ्0 साल के बीच है. कम उम्र में ही बदमाशों ने एक के बढ़कर एक सनसनीखेज घटना को अंजाम देकर पुलिस को चैलेंज दिया है. वे कितने शातिर है कि इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि हरिश्चन्द्र और उदय दो-दो मर्डर केस में धूमनगंज एरिया से वांटेड चल रहे हैं अभी तक पुलिस उन्हें अरेस्ट नहीं कर सकी है. जबकि, वे शहर में ही अपना आतंक मचाए हुए हैं.

ये हैं शक के दायरे में

क्- गौरव सोनी- मुट्ठीगंज के रहने वाले गौरव सोनी की शक्ल वीडियो फुटेज में मिली तस्वीर से मिलती है. पुलिस का दावा है जो लड़का ज्वैलरी से भरा बैग लूट कर भाग रहा है वह गौरव ही है. गौरव की तलाश में पुलिस छापेमारी करने में जुटी है.

ख्-गोविन्द पुरवार- गोविन्द भी मुट्ठीगंज एरिया का रहने वाला है. इसे गैंग का मास्टर माइंड बताया जा रहा है. इसी ने बदमाशों को बुलाया होगा और अपने यहां छिपने के लिए शरण दिया होगा. गोविन्द भी अपना घर छोड़ कर भागा हुआ है.

फ्-हरिश्चन्द्र -हरिश्चन्द्र धूमनगंज पुलिस स्टेशन एरिया का हिस्ट्रीशीटर है. कम उम्र में ही वह जरायम की दुनिया में तेजी से अपना नाम कमा लिया. उसके ऊपर कई सनसनीखेज आरोप लगे. कुछ दिन पहले ही कांट्रैक्टर बबलू की हत्या हुई थी. बबलू के साथ दो मर्डर केस में हरिश्चन्द्र वांटेड चल रहा है.

ब्-उदय यादव-उदय भी धूमनगंज एरिया का रहने वाला है. यह हरिश्चन्द्र का साथी है. पुलिस रिकार्ड में उदय भी क्रिमिनल है और वह दो मर्डर केस में वांटेड चल रहा है. धूमनगंज पुलिस उसकी तलाश में पहले से जुटी थी लेकिन अभी तक पकड़ से दूर है.

वीडियो फुटेज से कुछ क्लू मिले हैं. बदमाशों की तलाश की जा रही है. जिन बदमाशों पर पुलिस को शक है उनकी अरेस्टिंग के बाद ही राज खुलेगा. पुलिस उनकी तलाश में दबिश दे रही है.

मनोज रघुवंशी

इंस्पेक्टर क्राइम ब्रांच